0

मेंढको का बेवकूफ राजा | Mendhako Ka Bevkuf Raja

मेंढको का बेवकूफ राजा | Mendhako Ka Bevkuf Raja

मेंढको का बेवकूफ राजा | Mendhako Ka Bevkuf Raja मेंढको का बेवकूफ राजा | Mendhako Ka Bevkuf Raja : एक बार किसी पहाड़ पर मांडीवेश्या नामक सांप रहता था। एक दिन वह बहुत थका हुआ महसूस कर रहा था। उसने सोचा… Continue Reading

0

धन का भय | Dhan Ka Bhay

धन का भय | Dhan Ka Bhay

धन का भय | Dhan Ka Bhay धन का भय | Dhan Ka Bhay : एक बार देवशर्मा नामक संन्यासी गांव से दूर एकांत स्थान पर किसी मंदिर में रहता थे। बहुत से लोग दूर – दराज से उसका आशीर्वाद पाने… Continue Reading

0

चोर और राक्षस | Chor Aur Rakshas

चोर और राक्षस | Chor Aur Rakshas

चोर और राक्षस | Chor Aur Rakshas चोर और राक्षस | Chor Aur Rakshas : बहुत समय पहले की बात है। किसी नगर में एक अत्यंत निर्धन ब्राह्मण रहता था। निर्धन होने के कारण न तो उसे ठीक प्रकार से… Continue Reading

0

बिना जांचे परखे होता हैं ये हाल | Bina Janche Parkhe Hota Hain ye Haal

बिना जांचे परखे होता हैं ये हाल | Bina Janche Parkhe Hota Hain ye Haal

बिना जांचे परखे होता हैं ये हाल | Bina Janche Parkhe Hota Hain ye Haal बिना जांचे परखे होता हैं ये हाल | Bina Janche Parkhe Hota Hain ye Haal : पर्वत की तलहटी में एक घने और ऊँचे वृक्ष पर… Continue Reading

0

पार्वती ओर शिव का विवाह | Parwati Aur Shiv ka Vivah

पार्वती ओर शिव का विवाह | Parwati Aur Shiv ka Vivah

पार्वती ओर शिव का विवाह | Parwati Aur Shiv ka Vivah पार्वती ओर शिव का विवाह | Parwati Aur Shiv ka Vivah : देवताओं द्वारा प्रार्थना करने पर माँ भगवती ने दक्ष की पुत्री उमा के रूप में जन्म लिया। परन्तु… Continue Reading

0

निर्देश – ब्रह्मा का | Nirdesh – Brhma ka

निर्देश - ब्रह्मा का | Nirdesh - Brhma ka

निर्देश – ब्रह्मा का | Nirdesh – Brhma ka निर्देश – ब्रह्मा का | Nirdesh – Brhma ka : ऐसा कहा जाता हैं की संसार के रचयिता अर्थात् ब्रह्मा के तीन संताने थी देवता, मनुष्य तथा दैत्य। इन तीनों ने… Continue Reading

0

नचिकेता की आत्म शांति | Nachiketa ki Aatm Shanti

नचिकेता की आत्म शांति | Nachiketa ki Aatm Shanti

नचिकेता की आत्म शांति | Nachiketa ki Aatm Shanti नचिकेता की आत्म शांति | Nachiketa ki Aatm Shanti : गौतम मुनि के पुत्र का नाम नचिकेता था। एक बार गौतम मुनि ने एक यज्ञ किया। जिसको करने पर उस व्यक्ति… Continue Reading

0

धुर्व वीर | Dhurv Veer

धुर्व वीर | Dhurv Veer

धुर्व वीर | Dhurv Veer धुर्व वीर | Dhurv Veer : राजा उत्तन्पाद की दो रानियाँ थी. बड़ी रानी का नाम सुनीति था। उसका ध्रुव नाम का एक है पुत्र था। छोटी रानी का नाम सुरुचि था और वह राजा… Continue Reading

0

दध्यन ऋषि | Ddhyan Rishi

दध्यन ऋषि | Ddhyan Rishi

दध्यन ऋषि | Ddhyan Rishi दध्यन ऋषि | Ddhyan Rishi : एक दिन भगवान् इंद्र अपने दरबार में बैठे हुवे नार्तियाओ का नृत्य देख रहे थे, परन्तु उस वक़्त उनका ध्यान वहाँ नहीं बल्कि कहीं और था। वह सोच रहे… Continue Reading

0

जब मिले भीम से हनुमान | Jab Mile Bheem se Hanuman

जब मिले भीम से हनुमान | Jab Mile Bheem se Hanuman

जब मिले भीम से हनुमान | Jab Mile Bheem se Hanuman जब मिले भीम से हनुमान | Jab Mile Bheem se Hanuman : पशुपत अस्त्र प्राप्त करने के उद्देश्य से अर्जुन हिमालय पर्वत पर भगवान् शिव की तपस्या के लिये गये।… Continue Reading

0

विद्वान मित्रो का साथ | Vidhwan Mitro Ka Sath

विद्वान मित्रो का साथ | Vidhwan Mitro Ka Sath

विद्वान मित्रो का साथ | Vidhwan Mitro Ka Sath विद्वान मित्रो का साथ | Vidhwan Mitro Ka Sath : एक बार जंगल में एक लंबे पेड़ पर चिड़िया और उसके साथी ने मिलकर सुंदर छोटा सा घोंसला बनाया। उन्होंने घोंसला बनाने… Continue Reading