Home Hindi Inspirational Stories एक किसान की पुकार

एक किसान की पुकार

by Hind Patrika

एक किसान की पुकार

एक किसान की पुकार : यक्ष ने पूछा युधिस्ठिर से what is the biggest surprise on this planet earth ? युधिस्ठिर ने कहा everyone has to die मरना सबको हैं लेकिन मरना कोई नहीं चाहता! आज अगर यक्ष होते तो मैं उनको बोलता खाना सबको चाहिए उगाना कोई नहीं चाहता, दूध सबको चाहिए गाय रखना कोई नहीं चाहता. हैं ना? पानी सबको चाहिए कुंवो को बचाना कोई नहीं चाहता. farming खेती सुनते ही क्या आता हैं मन में पहला reaction? मेरा जो अनुभव हैं उसे मैंने पाया हैं की चाहे कोई भी हो खेती मतलब समझता हैं की मैंने नहीं करना. खाना छोड़ नहीं सकते not possible! खेती छोड़ दी हमने. मैं देखता हूँ मेरे गाँव में 40% घरो में ताले लगे हैं और कौन रह रहा हैं गाँव में जिसका बेटा शहर में लेने गया या जो शहर में fit हो नहीं सकता. 76% किसान भारत में बोलते हैं मुझे खेती नहीं करनी. even if I’ll get a choice I will quit farming इतनी greenry हमने पैदा की और तीन generations से हम सिखाते आ रहे हैं की agriculture is a business of loss खेती loss का धंधा हैं. धंधा बना दिया हैं हमने. और हमने जब इसे धंधा बनाया business बनाया तो greed उसमे जुड़ा और जब लालच लोभ तो उसमे जुड़ेगा तो ethics compromise हो जाएगा for sure.

Also Check : Importance of Water in Hindi

एक किसान की पुकार

एक किसान की पुकार : भोजन के बिना कुछ नहीं हो सकता और जब हम भोजन बोलता हैं तो पानी included हैं उसमे पहले जब नदी, नाले, तालाब, कुंवा ये सब था तो ये open pit हैं. छोटा या बड़ा बारिश होगा तो पानी सीधे निचे जाएगा ऊपर से फिर बह कर आएगा धरती माता उसको clean करेगी और फिर उसको हमारे लिए avaliable करेगी. तो demand और supply match हुआ ना incoming और outgoing. लेकिन हम विकास कर गए जी open water is dangerous to health. the first layer has been too much chemical, the other layer has some other chemical and the third one come on we’ll give you bournville pottery. bournville में होता क्या हैं देखिये पाइप डालते हैं निचे पानी उससे चूसते हैं. और पानी उसमे कही अंदर जाता हैं कही से तो कट गया ना link. suck करने का जो हमारा speed था, पानी जो हम लेना शरू किये धरती से उसका use कम हुआ और बर्बादी ज्यादा हुई. पीने के लिए हम कम use करते हैं बर्बादी ज्यादा करते हैं. देखता हूँ मैं यहाँ banglore में हफ्ते में एक दिन पानी आता हैं गर्मियों में और जब पानी आता हैं तो मैं बताऊं लोग road धोते हैं, कुत्तो को धोते हैं, car को धोते हैं, problem वहां से शुरू हुआ और जब पानी की बर्बाद करने की बारी आती हैं तो we have innovative ways, I’ll tell you. this खोपड़ी is very very intelligent when it comes to waste something called natural resources.

Also Check : 5 Benefits of Water in Hindi

एक किसान की पुकार

एक किसान की पुकार : आप जब छोटे थे, मैं जब छोटा था तो पानी गिरता था लोटे में? free मिलता था कोई भी free में देता था अब इसका मतलब बदल गया अब हमार विकास हो गया हैं developement हो गया हैं. I find I feel distructive developement sometime. एक किसान के 6 एकड़ के खेत में 76 bourville सारे सूखे हुवे. Isn’t it a biggest example that show you the demand and supply is not matching when it’s called to something called to water that important. जब से शहर जाना शुरू हुआ युवक सभी शहर की ओर चले गए. जब से हमने बोलने शुरू किया की agriculture is a business of loss. they sold and slaughter of the cows now the situation is like afganisthan in terms of water and it is glimps. nature is giving you the glimps और आप wait कर रहे हैं की हमारे दरवाजे पर जब वो हालत आएगी तब हम देखेंगे. इतने अच्छे लोग हम हो गए. जब मेरे सर में दर्द होगा तब देखेंगे सरदर्द क्या हैं. आपका सरदर्द आपका सरदर्द हैं. Is it the sign of the good people I tell you it is the flips side of our goodness.

Also Check : Benefits of Drinking Warm Water in Hindi

एक किसान की पुकार

एक किसान की पुकार : भागीरथ को पता था की पानी के बिना नहीं चलेगा. उन्होंने गंगा को धरती पर लाया और हमने गंगा को सुखा दिया. आप समझ रहे हैं, टांग में कुल्हाड़ी मार ली दर्द अबी भी नहीं हो रहा हैं. life में सबसे important चीज़ क्या हैं. सबसे important चीज़ हैं हवा और भगवान् ने अभी तक tax नहीं माँगा उस चीज़ पर इतना बर्बाद किया की हमारा पडोसी china खरीदता हैं cylinder bejing में. आप सोचो cylinder के oxygen से ही हम चलने लगे तो फिर rifill किसका पहले आपका की मेरा? या फिर मेरी बीवी का? बच्चे का? हमारी आपकी भी कोई जिम्मेदारी हैं! atleast अपने बच्चो के लिए जब हम घूंटो में टंग जाएंगे. look at these people in the wall either they depleted of polluted everything before they died and they left us with nothing but with 99% score and when we have the best job in the world we come home and we have water to drink.

Also Check : World Water Day in Hindi

एक किसान की पुकार

एक किसान की पुकार : सांस मैं लेता हूँ तो मेरी जिम्मेदारी हैं की हवा को स्वच्छ मैं रखु, पानी मैं पीता हूँ तो ये मेरी जिम्मेदारी हैं की पानी का source बना रहे. पहले लोगो को उनकी बाते बतानी पड़ेगी की भई जल जागृति हम कर रहे हैं, नदियों के पुन: उत्थान की बात हम कर रहे हैं तो चलो सबसे सब कुछ संभव नहीं हैं आज की life में तो मैं कहूँगा तन से! नहीं हो सकता मन से! उतना कठिन नहीं हैं, धन से! बिना पैसे का कोई लोभ नहीं होता और कुछ ना सही तो उत्साह तो बढाओ. कृष्णा से गोबर्धन उठाया था तो सारे लोगो ने अपना लकड़ी और छोटी मोती चीज़े उठा ली थी लेकिन उठाने वाला कोई और था. अपना कर्म, जिसने हाथ लगया उसके कर्म शुद्ध हो गए. तर गया वो. फिर वो गोबर्धन उठ रहा हैं तभी इतने बड़े बड़े काम हो रहे हैं.
आप भी लगा दो न हाथ!

Also Check : World Forestry Day in Hindi

एक किसान की पुकार

You may also like

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.