Home Hindi Quotes ए पी जे अब्दुल कलाम के अनमोल विचार|

ए पी जे अब्दुल कलाम के अनमोल विचार|

by Hind Patrika

ए पी जे अब्दुल कलाम के अनमोल विचार | APJ Abdul Kalam in Hindi

 APJ Abdul Kalam in Hindi
APJ Abdul Kalam in Hindi : अब्दुल पाकिर जैनुलब्दीन अब्दुल कलाम एक ऐसा नाम, एक ऐसी शख्सियत जो हमारे ज़ेहन में उस समय तक बसी रहेगी जब तक हमारे मन में उन देशभक्तो  लिए प्रेम की भावना रहेगी। कुछ ही ऐसे लोग होते हैं जिनमे खुद को सम्पूर्ण तरीके से  देश को समर्पित करने का जज़्बा होता हैं वो हिम्मत होती हैं जो दुसरो को भी उनके जैसा बनना का होसला देती हैं. ये कुछ लोग गद्दारो के मुँह  पर तमाचा मारते हैं और समाज के लिए एक ऐसी प्रेरणा का श्रोत बनते हैं जिन्हे हम जिस भी रूप में देखे इन्हे सलाम करने को ही जी चाहता हैं।
इनकी जिंदगी के हर पहलु को जानने के यदि इच्छुक हैं तो इससे बेहतरीन जगह कोई दूसरी नहीं मिलेगी

ए पी जे अब्दुल कलम के अनमोल विचार | APJ Abdul Kalam Quotes in Hindi

 APJ Abdul Kalam Quotes in Hindi
APJ Abdul Kalam in Hindi : यहाँ पर हमने आपके लिए डॉ ए पी जे अब्दुल कलम के कुछ बेहतरीन विचार लिखे है। आप इन कोट्स को अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है, या फेसबुक, व्हाट्सप्प पर अपडेट कर सकते है।
 इससे पहले की सपने सच हो आपको सपने देखने होंगे।
सपना वो नहीं है जो आप नींद में देखे, सपने वो है जो आपको नींद ही नहीं आने दे।
इंतज़ार करने वालो को सिर्फ उतना ही मिलता है, जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते है।
एक अच्छी पुस्तक हज़ार दोस्तों के बराबर होती है जबकि एक अच्छा दोस्त एक लाइब्रेरी (पुस्तकालय) के बराबर होता है
आप अपना Future नहीं बदल सकते पर आप अपनी आदते बदल सकते है और निश्चित रूप से आपकी आदते आपका Future बदल देगी।
कृत्रिम सुख की बजाये ठोस उपलब्धियों के पीछे समर्पित रहिये.
भगवान, हमारे निर्माता ने हमारे मष्तिष्क और व्यक्तित्व में असीमित शक्तियां और क्षमताएं दी हैं. इश्वर की प्रार्थना हमें इन शक्तियों को विकसित करने में मदद करती है.

अगर किसी देश को भ्रष्टाचार – मुक्त और सुन्दर-मन वाले लोगों का देश बनाना है तो , मेरा दृढ़तापूर्वक मानना है कि समाज के तीन प्रमुख सदस्य ये कर सकते हैं. पिता, माता और गुरु.

आकाश की तरफ देखिये. हम अकेले नहीं हैं. सारा ब्रह्माण्ड हमारे लिए अनुकूल है और जो सपने देखते हैं और मेहनत करते हैं उन्हें प्रतिफल देने की साजिश करता है.
मुझे बताइए , यहाँ का मीडिया इतना नकारात्मक क्यों है? भारत में हम अपनी अच्छाइयों, अपनी उपलब्धियों को दर्शाने में इतना शर्मिंदा क्यों होते हैं? हम एक माहान राष्ट्र हैं. हमारे पास ढेरों सफलता की गाथाएँ हैं, लेकिन हम उन्हें नहीं स्वीकारते. क्यों?
अपने Job से प्यार करो पर अपनी Company से प्यार मत करो क्योकि आप नहीं जानते की कब आपकी Company आपको प्यार करना बंद कर दे।

You may also like

2 comments

prabhash kumar September 27, 2016 - 5:35 pm

Nice story

Reply
prabhash kumar September 27, 2016 - 5:36 pm

Nice story

Reply

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.