Short Moral Stories in Hindi

स्वरुप – वक्रतुंड का | Swaroop – Vakrtund ka

स्वरुप – वक्रतुंड का | Swaroop – Vakrtund ka स्वरुप – वक्रतुंड का | Swaroop – Vakrtund ka : एक बार मत्सर नाम का दैत्य, ऋषि शुक्राचार्य से मिलने गया। चूंकि मत्सर एक दैत्य था, अत: वह लम्बा, गठीला और देखने में सुन्दर था। उसके स्वरूप को देखकर शुक्राचार्य प्रभावित हुए। शुक्राचार्य ने उससे पूछा कि …

स्वरुप – वक्रतुंड का | Swaroop – Vakrtund ka Read More »

अनाधिकार चेष्ठा ऐसा ही परिणाम लाती हैं | Anadhikar Cheshtha Aisa Hi Parinaam Lati Hain

अनाधिकार चेष्ठा ऐसा ही परिणाम लाती हैं | Anadhikar Cheshtha Aisa Hi Parinaam Lati Hain अनाधिकार चेष्ठा ऐसा ही परिणाम लाती हैं | Anadhikar Cheshtha Aisa Hi Parinaam Lati Hain : किसी धनी व्यापारी ने नगर की सीमा के पास एक भव्य देवमंदिर बनवाना आरंभ किया. इसके लिए उसने नगर के सर्वश्रेस्ठ कारीगर और राजमिस्त्री आदि …

अनाधिकार चेष्ठा ऐसा ही परिणाम लाती हैं | Anadhikar Cheshtha Aisa Hi Parinaam Lati Hain Read More »

शिव का मछुवारे का रूप | Shiv ka Macchuvare ka Roop

शिव का मछुवारे का रूप | Shiv ka Macchuvare ka Roop शिव का मछुवारे का रूप | Shiv ka Macchuvare ka Roop : एक दिन, कैलाश पर्वत पर भगवान् शिव अपनी पत्नी देवी पार्वती को वेदों के विषय में बता रहे थे। वेदों के विषय में व्याख्या व बहस इतनी ज्यादा चली कि कई वर्षों …

शिव का मछुवारे का रूप | Shiv ka Macchuvare ka Roop Read More »

एक सही उपाय पर फिर भी क्यूँ पछताय | Ek Sahi Upay Par Fir Bhi Kyun Pacchtae

एक सही उपाय पर फिर भी क्यूँ पछताय | Ek Sahi Upay Par Fir Bhi Kyun Pacchtae एक सही उपाय पर फिर भी क्यूँ पछताय | Ek Sahi Upay Par Fir Bhi Kyun Pacchtae : किसी नदी के किनारे एक बगुला और एक केकड़ा रहता था। साथ – साथ रहने के कारण दोनों में दोस्ती हो …

एक सही उपाय पर फिर भी क्यूँ पछताय | Ek Sahi Upay Par Fir Bhi Kyun Pacchtae Read More »

झूठ के पांव नहीं होते | Jhuth Ke Panv Nahi Hote

झूठ के पांव नहीं होते | Jhuth Ke Panv Nahi Hote झूठ के पांव नहीं होते | Jhuth Ke Panv Nahi Hote : किसी जंगल में एक सियार (गीदड़) रहता था। एक दिन भोजन की तलाश में वह सारे दिन जंगल में भटकता रहा, किंतु उसे कोई भी शिकार न मिला। भोजन की तलाश में वह …

झूठ के पांव नहीं होते | Jhuth Ke Panv Nahi Hote Read More »