दशहरा पर निबंध | Dussehra in Hindi | Essay On Dussehra in Hindi

दशहरा पर निबंध | Essay On Dussehra in Hindi

दशहरा पर निबंध |Dussehra in Hindi

Essay On Dussehra in Hindi : हमारे भारत देश में हमेशा त्योहारों को एक साथ मिलकर खुशियों के साथ मनाया गया है | भारत के सबसे परचलित्त त्योहार है होली, रक्षाबंधन, दशहरा और दिवाली | इनमें से दशहरा  एक ऐसा त्यौहार है जो  काफी ज़ोरो शोरो से मनाया जाता है । इस त्योहार का ध्यान आते ही मन-मयूर नाच उठता है। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत का त्योहार है।

Also Check : Diwali Essay in Hindi

प्रस्तावना | Introduction

दशहरा पर निबंध |Dussehra in Hindi

दशहरा शब्द की उत्पत्ति- दशहरा या दसेरा शब्द ‘दश'(दस) एवं ‘अहन्‌‌’ से बना है। दशहरा या  विजयादशमी अपने देश का एक महत्वपूर्ण दिन है । इसे हम लोग आयुध-पूजा के नाम से भी जानते हैं। दशहरा प्रतिवर्ष हिन्दू कैलेंडर के अनुसार आश्विन माह की दसवीं को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। दशहरे को हम बुराई पर अच्छाई के जीत के दिन के रूप में मानते हैं। तमाम लोग इस दिन एक-दूसरे को सन्देश भेज कर बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए बधाई देते हैं। दशहरा वर्ष की तीन अत्यंत शुभ तिथियों में से एक है, अन्य दो हैं चैत्र शुक्ल की एवं कार्तिक शुक्ल की प्रतिपदा। इसी दिन लोग नया कार्य प्रारंभ करते हैं, इस दिन शस्त्र-पूजा, वाहन पूजा की जाती है। प्राचीन काल में राजा लोग इस दिन विजय की प्रार्थना कर रण यात्रा के लिए प्रस्थान करते थे। दशहरा का पर्व दस प्रकार के पापों- काम, क्रोध, लोभ, मोह मद, मत्सर, अहंकार, आलस्य, हिंसा और चोरी जैसे अवगुणों को छोड़ने की प्रेरणा हमें देता है।

Also Check : Hanuman Jayanti Essay in Hindi

दशहरा क्यों मनाया जाता है ?

दशहरा पर निबंध |Dussehra in Hindi

दशहरा प्रमुख हिंदू त्यौहारों में से एक है। हमारे भारत देश में दशहरा मनाने का कारण यह है  कि राम और रावण का युद्ध- रावण भगवान राम की पत्नी देवी सीता का अपहरण कर लंका ले गया था। भगवान श्री राम ने 9 दिनों के युद्ध के बाद दानव राजा रावण को मार डाला और रावण की कैद से अपनी पत्नी माता  सीता को मुक्त करा लिया था । इस दिन देवी दुर्गा ने राक्षस महिषासुर को मार डाला, और इसलिए ये आज भी विजयदाश्मी के रूप में मनाया जा रहा है। लोग इस दिन  प्रार्थना करते हैं और आज भी देवी दुर्गा से आशीर्वाद मांगते हैं। भगवान राम युद्ध की देवी मां दुर्गा के भक्त थे, उन्होंने युद्ध के दौरान पहले नौ दिनों तक मां दुर्गा की पूजा की और दसवें दिन दुष्ट रावण का वध किया।भगवान राम जिन 108 कमल से प्रार्थाना कर रहे थे उसमें से एक कमल हटा दिया जिसके साथ वह प्रार्थना कर रहे थे। जब श्री राम उनकी प्रार्थनाओं के अंत तक पहुंचे और देखा  कि एक कमल गायब है , तो उन्होंने अपनी आंखों को काटना शुरू कर दिया (क्योंकि उनकी आंखें कमल का प्रतिनिधित्व करती हैं और उनके लिए एक और नाम कमलनायन है) अपनी प्रार्थना पूरी करने के लिए। जिससे देवी उनकी भक्ति से प्रसन्न थीं और रावण पर उन्हें विजय दी।

Also Check : Jallianwala Bagh Essay in Hindi

दशहरा का महत्व

दशहरा एक महत्वपूर्ण हिंदू त्यौहार है।  इस त्यौहार से हम  बुराई पर अच्छाई की जीत सीखते  है। यह त्यौहार रावण पर राम की जीत के सम्मान में पूरे देश में मनाया जाता है। देश के कई  हिस्सों में दशहरा त्योहार अलग अलग  तरीकों से मनाया जाता है। पंजाब में उत्सव लगभग दस दिनों तक जारी रहता है। सीखने वाले पंडित रामायण की कहानियों को पढ़ते हैं। लोग इसे मान  सम्मान के साथ सुनते हैं। लगभग हर शहर में, राम लीला कई रातों के लिए आयोजित की जाती है।

दशहरा पर्व पर मेले- दशहरा पर्व को मनाने के लिए जगह-जगह बड़े मेलों का आयोजन किया जाता है। यहां लोग अपने परिवार, दोस्तों के साथ आते हैं और खुले आसमान के नीचे मेले का पूरा आनंद लेते हैं। मेले में तरह-तरह की वस्तुएं, चूड़ियों से लेकर खिलौने और कपड़े बेचे जाते हैं। इसके साथ ही मेले में व्यंजनों की भी भरमार रहती है।

हजारों लोग इसका आनंद लेने के लिए जाते हैं।

Also Check : Baisakhi Festival in Hindi

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.