Hindi Grammar

Hindi Grammar : दोस्तों आज का विषय हैं हिंदी व्याकरण लेकिन इससे पहले आवश्यक हैं की हम भाषा के बारे में जान ले इसे इंग्लिश में language भी कहते हैं.

Hindi Language |  हिंदी भाषा

Hindi Grammar :  दोस्तों आज से कई हजारो साल पहले जो इंसान था वो जंगलो में रहता था और वो अपनी बातो को इशारो में समझाता था. धीरे धीरे उसने पशु पक्षियों की आवाजों पर गौर किया और उसके बाद उसने और भी बहुत सारी ध्वनियों को सुना और उसने अपनी ध्वनियों के माध्यम से अपने विचारो और अपनी बात को दुसरो के सामने प्रकट करने की कोशिश कर भाषा का निर्माण किया.

Check Also : Vegetables Name in Hindi | सब्जियों के नाम हिंदी व अंग्रेजी में

 

Hindi Grammar : परिभाषा (Definition)
भाषा एक माध्यम हैं जिसके द्वारा हम अपने विचार प्रकट करते हैं.
Language is a medium through which we express our thoughts.

भाषा के दो रूप होते हैं :
(क ) मौखिक (verbal)
(ख) लिखित (written)

Check Also : Merry Christmas Story in Hindi | मैरी क्रिसमस की कहानी

 

Hindi Grammar : और एक अन्य तरीका भी हैं सांकेतिक। आपने देखा होगा की crossing पर road पर चलते समय traffic police को यानी policemen को इशारा करते हुवे।
मौखिक भाषा : मौखिक भाषा वो हैं जो हम बोल कर अपनी बात को प्रकट करते हैं उसे मौखिक भाषा कहते हैं और लिखित भाषा जब हम लिख कर अपनी बात को प्रकट करते हैं उसे लिखित भाषा कहते हैं.


Hindi Grammar : भाषा के लिखने के ढंग को लिपि कहते हैं : भाषा को सुरक्षित करने के लिए उसे लिखने की आवश्यकता महसूस की गयी. उसके लिए कुछ चिन्ह निश्चित किये गए इन्ही चिन्हों को लिपि कहते हैं.
लिपि और भाषा : दोस्तों निचे कुछ भाषाएँ और उनकी लिपियाँ दी गयी हैं.

Check Also : चुना खाने वाला सेवक

लिपि । भाषा
गुरुमुखी – पंजाबी
देवनागरी – हिंदी, मराठी, संस्कृत, राजस्थानी
फ़ारसी – उर्दू
रोमन – अंग्रेजी, जर्मन

Hindi Grammar : व्याकरण (Grammer) : जब हम भाषा को बोलते हैं या लिखते हैं तो वर्णों, शब्दों और वाक्यों का प्रयोग करते हैं.
प्रत्येक भाषा के कुछ नियम होते हैं. व्याकरण उन्ही नियमो की जानकारी देती हैं तथा भाषा के शुद्ध रूप का ज्ञान देती हैं उसकी परिभाषा कुछ इस प्रकार से हैं :
वह शास्त्र जो हमे भाषा के नियमो की जानकारी देकर उसको शुद्ध रूप से बोलना और लिखना सिखाता हैं.

Check Also : दौलतमंद दिखकर ही आप दौलतमंद बन सकते हैं
Hindi Grammar : मात्र भाषा (Mother tounge)
जो भाषा बच्चा सबसे पहले अपने माता – पिता से सीखता हैं. उसे मात्र भाषा कहते हैं.

Hindi Grammar : साहित्य (Literature)
ज्ञान का यह संचित कोष साहित्य कहलाता हैं.
साहित्य दो तरह के होते हैं जो की निम्न प्रकार से दिए गए हैं :
(क) गद्य और
(ख) पद्य

Check Also : ज़्यादातर लोग इतने आलसी होते हैं कि अमीर नहीं बन सकते। 

Hindi Grammar : गद्य में हम अपने विचार कहानी, निबंध तथा नाटक के रूप में प्रकट करते हैं जबकि पद्य में हम अपने विचार के रूप कविता के माध्यम से प्रकट करते हैं.

Check Also : How to Make Medu Vada Recipe in Hindi

Share
Published by
Hind Patrika

Recent Posts

दशहरा पर निबंध |Dussehra in Hindi | Essay On Dussehra in Hindi

दशहरा पर निबंध  Essay On Dussehra in Hindi Essay On Dussehra in Hindi : हमारे भारत…

4 months ago

दिवाली पर निबंध | Deepawali in Hindi | Hindi Essay On Diwali

दिवाली पर निबंध  Hindi Essay On Diwali Diwali Essay in Hindi : हमारा समाज तयोहारों…

4 months ago

Vbet10 रिव्यु गाइड, बोनस और डिटेल्स | अक्टूबर 2021 | Hind Patrika

Vbet10 एक ऑनलाइन कैसीनो और बैटिंग वेबसाइट है। यह वेबसाइट हाल में ही भारत में…

4 months ago

Fiji (Mini India) & Its Facts in Hindi | फिजी (मिनी इंडिया) और उसके रोचक तथ्य

Fiji (Mini India)        Fiji (Mini India) in Hindi :  आज के इस…

5 months ago

रानी लक्ष्मीबाई की जीवनी | झांसी का युद्ध और मृत्यु

रानी लक्ष्मीबाई | Jhansi Ki Rani in Hindi Jhansi Ki Rani in Hindi: देश की…

2 years ago

पर्यावरण पर निबंध

पर्यावरण पर निबंध | Environment in Hindi Environment in Hindi: पर्यावरण शब्द संस्कृत के दो…

3 years ago