हींग के फायदे

हींग के फायदे | Hing ke Fayde

Hing ke Fayde: हींग बहुत गुणकारी है यह तो हम सभी जानते हैं एवं इसके कई फायदे भी है और हींग बहुत सी जगह उपयोग होती, और अपने गुण को प्रदर्शित करती है: कब्ज से राहत, पेट की गैस से राहत, बाँझपन को दूर करना, गुदा रोग से राहत, निमोनिया में आराम, मोतियाबिंद में राहत, मलेरिया का बुखार दूर करना, आमातिसार में आराम, उल्टी में आराम, गर्भसंकोचन में आराम, सिरदर्द में आराम, माइग्रेन से राहत, कान  के दर्द से छुटकारा, घुटनों  के दर्द से राहत, मासिक धर्म  में निरंतरता लाना इसके अलावा अचार की सुरक्षा, व्यंजन के स्वाद में बृद्धि, भोजन को पाचक बनाने में लाभकारी इत्यादि.

Hing ke Fayde
Hing ke Fayde

हींग कोई फूल या पेड़ नहीं है यह एक प्रचलित पेड़ के तने से निकला हुआ पदार्थ है जो गोंद जैसी होती है. इसका पेड़ मुख्यतः 5  से 7  इंच लम्बा होता है. हींग सिर्फ औषधीय में ही नहीं बल्कि मसलों में भी उपयोग की जाती है और इसके अनेक गुण होते हैं. हींग बहुत ही प्रचलित है क्योंकि इसका उपयोग घरेलु कार्यों और स्वास्थ्य के उपचार के लिए किया जाता है. हींग सौंफ़ की प्रजाति वाला पौधा होता है जिसकी उत्पत्ति मूलतः ईरान से हुई है. भारत में यह कश्मीर एवं पंजाब की कुछ जगहों में पाया जाता है. हींग के मुख्यतः दो प्रकार होते हैं: हींग काबूली सुफाइद एवं हींग लाल. हींग का स्वाद तीखा होता है लेकिन यह शरीर के लिए बहुत ही गुणकारी  होती है.

हींग में सल्फर पाया जाता है जिसके कारण इसकी तीक्ष्ण गन्ध  होती है. हींग का संस्कृत नाम हिंगु है.  तथा इसके कुछ और भी नाम है जैसे: हिन्दी – हींग, कश्मीरी – यांग, गुजराती – हींग, बंगला – हींग, साप ; तेलुगु – इंगुवा, मलयालम- कायम , मराठी – हींग, कन्नड – हींगर, उडिया – हेंगु, उर्दू – हींग आदि.

हींग के मुख्य उपयोग/ गुण | Main Uses of Hing

व्यंजन में सुगन्ध के लिए | For the Fragrance in the Dishes

For the Fragrance in the Dishes

हींग का उपयोग व्यंजन में सुगंध लाने के लिए किया जाता है और इसके साथ ही हींग पेट की पाचन क्रिया को सही प्रकार से चलाने में समर्थ है. यह अचार, करी और भी सभी सब्जियों को पकाते समय उपयोग में लायी जाती है जिससे सुगंध के साथ स्वाद भी बढ़ता है और शरीर भी स्वास्थ्य रहता है.

औषधि के लिए | For Medicine

For Medicine

हींग को कई औषधियों में उपयोग किया जाता है. हींग में  दिमाग की बिमारियों को खत्म करने की क्षमता होती है जैसे मिर्गी, लकवा, फालिज आदि. हींग आँखों की बीमारी में भी राहतकारी है, पाचन के लिए भी हींग को उपयोगी बताया गया है, इसके अलावा कान में डालने से बहरापन समाप्त होता है. हींग को तेल में मिलकर लेप तैयार किया जाता है जिससे चोट एवं दर्द में राहत मिलत्ती है. कफ, वात, हवा से लगने वाली बीमारियाँ,  यौन क्षमता बढ़ाने, खांसी का नाश करने के लिए हींग बहुत उपयोगी है.

Also Read: जामुन खाने के फायदे | Jamun Ke Fayde

गर्भपात से रोकथाम | Abortion Prevention

Abortion Prevention

गर्भपात से रोकथाम के लिए हींग को बहुत उपयोगी माना जाता है अगर गर्भ के लक्षण दिखाई दें तो 6 ग्राम हींग की 60  गोलियां बना कर दिन में 2  बार इन गोलियों का सुबह – शाम सेवन करें, और धीरे-धीरे इसकी मात्रा बढ़ा करके 10  गोली प्रतिदिन कर देनी चाहिए, और प्रसव के समय तक इसका सेवन करना चाहिए इससे गर्भपात का भय 90% तक कम हो जायेगा. इस औषधि को बहुत उपयोगी बताया गया है.

हींग के नुकसान एवं सावधानियाँ | Loss of Hing and Precautions

Hing ke Fayde aur nuksaan

Hing ke Fayde: कहा जाता है जिस चीज़ के गुण होते हैं उसके कुछ अवगुण भी होते हैं जो हमे हमेशा याद रखना चाहिए. वैसे ही हींग के उपयोग और फायदे तो हैं ही लेकिन इसके कुछ नुक्सान भी है और इसके लिए हमे कुछ सावधानियाँ लेने की आवश्यकता होती है. हींग का लम्बे समय तक सेवन करना हानिकारक है अगर कोई स्त्री हींग का लम्बे समय तक सेवन करती है और उन्हें रक्तस्त्राव अधिक मात्रा में होता है तो हींग का सेवन बंद कर दें. अगर शिशु स्तनपान करता है और शिशु को गर्मी की समस्या है तो माताएँ हींग का सेवन बंद कर दें. अधिक समय तक हींग का सेवन हानिकारक है इससे छाती में जलन एवं मूत्र में जलन की समस्या उत्त्पन्न होने की सम्भावना रहती है. अधिक हींग का सेवन करने से पसीने से दुर्गन्ध आना प्रारम्भ हो जाती है हींग मष्तिष्क को गर्म रखती है तो गर्म दिमाग वाले इसका सेवन न करें. इसके अलावा हींग लिवर की बीमारी से जूझ रहे लोगो की लिए भी हानिकारक है.

Also Read: गिलोय के फायदे | Giloy ke Fayde

हिंग का अर्क एवं उपयोग | How to Extract Hing and Its Uses

Hing ke arak

Hing ke Fayde: हींग को एक  होम्योपैथिक औषधि भी कहा गया है, हींग के द्वारा बनाया गया अर्क कई औषधियों में उपयोग किया जाता है, जैसे हींग के अर्क की 10 बून्द अगर साफ़ पानी में मिलकर पी ली जाये तो पेट के दर्द से राहत मिल जाती है. टायफाइड में अफारा हो तो हींग के अर्क को नौसादर और हीरा बोल के साथ मिलकर देने से बहुत ही जल्दी राहत मिलती है.

उपसंहार | Epilogue

Epilogue

Hing ke Fayde: हींग गुणकारी है लेकिन इसके साथ कुछ नुकसान भी हैं इसलिए सावधानियाँ लेना भी अत्यंत आवश्यक है क्योंकि जरुरी नहीं है कि यह हर व्यक्ति के लिए हींग लाभदायक हो. हींग का अत्यधिक मात्रा में सेवन भी हानिकारक होता है. इसलिए अगर आप हींग को औषधीय के रूप में सेवन करना प्राम्भ कर रहे हैं तो इसको प्रायः चिकित्सक के परामर्श के अनुसार ही सेवन करें. और आप व्यंजन में इसको सुगंध मात्र एवं स्वादानुसार उपयोग करें इससे कोई नुकसान नहीं है. हींग घरेलू उपचार में बहुत उपयोग लायी जाती है लेकिन इसकी मात्रा का विशेष ध्यान रखना चाहिए. हींग को आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक दवा के लिए उपयोग में लाया जाता है और यह प्राचीन काल से चली आ रही औषधियों में से एक है जिससे कई बड़ी – बड़ी बिमारियों का इलाज किया जा चुका है. प्राचीन काल में बैद्य हींग का उपयोग जड़ी-बूटी की तरह करते थे और आज भी इसका उपयोग जड़ी -बूटी की तरह किया जाता है जो बहुत ही जल्दी आराम देने में समर्थ है. कई छोटी बिमारियों का इलाज तो हींग के द्वारा घर में ही किया जा सकता है जैसे पेट दर्द, सिर दर्द, दस्त, उल्टी इत्यादि.

Also Read: Barley in Hindi | जौ खाने के फायदे

परामर्श | Consultation

Hing ke paude ke fayde

हींग का उपयोग किसी चिकित्सक की सलाह से ही करें, एवं सही मात्रा में इसका सेवन करें. हींग का अत्यधिक सेवन हानिकारक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.