How to Choose or Make Your Career in Hindi | कौन सा, कैसा और क्या करियर चुना जाए

How to Choose or Make Your Career

How to Choose or Make Your Career : देखिये इस लेख में हम आपको बताएँगे की career planning किस तरह से की जाती हैं. और एक अच्छा career बनाने के लिए आपको किन चीजों पर ध्यान देना पड़ेगा. ज्यादातर लोग सोचते हैं की एक अच्छा career एक अच्छे introduction से शुरू होता हैं और एक offer letter पर खत्म हो जाता हैं पर असल में होता ये हैं की एक अच्छा career जो होता हैं वो एक अच्छे career introduction से शुरू होता हैं, एक अच्छा career देता हैं और मरने के बाद भी चलता रहता हैं. हम आपको एक बहुत ही अच्छा example देता हूँ देखिये काम हमारी ज़िन्दगी का आधा हिस्सा होता हैं. 8 घंटे हम काम करते हैं, 8 घंटे आराम करते हैं, और 8 घंटे हम बाकी के काम करते हैं. दूसरी चीज़ ये की आपका काम आपको define करता हैं.

Also Check : Mind Blowing Facts about Dreams in hindi | सपनो के बारे में कुछ ऐसे तथ्य जो आपका दिमाग चकरा देंगे

How to Choose or Make Your Career

How to Choose or Make Your Career
ये कौन हैं? ये teacher हैं. ये पढ़ता हैं.
ये कौन हैं? ये चोर है. ये चोरी करता हैं.
ये कौन हैं? ये driver हैं. ये गाडी चलाता हैं.
और जो चीज़ आपको define करती हैं. जो आपको आपकी पहचान देती हैं उस चीज़ को अगर आप मन मारकर friday का इंतज़ार करते – करते अगर करते भी हो तो आप perform तो भले ही कर लो आप achieve कुछ नहीं कर पाओगे यानी आप जो कुछ भी काम कर रहे हो अगर उस काम को करने में आपको मजा नहीं आ रहा हैं तो एक दम tredmill पर चलने जैसा हैं यानी भले ही आप 100 किलोमीटर चल लो आप खड़े उसी जगह पर रहोगे. यानी perform तो कर रहे हो.

Also Check : हिटलर के बारे में कुछ ऐसी बाते जो कुछ ही लोगो को पता हैं

How to Choose or Make Your Career

How to Choose or Make Your Career

पहुँच कही भी नहीं रहे हो. achieve कुछ भी नहीं हो रहा हैं. देखिये दुनिया में चार तरह के लोग होते हहिं. एक वो जो नौकरी करना चाहते हैं पर उन में काबिलियत नहीं होती,  दुसरे वो जो करना चाहते हैं. काबिलियत होती हैं लेकिन उनकी नौकरी नहीं लग रही होती. नौकरी इसलिए नहीं लगती इन लोगो की क्युकी इनका जो skills हैं वो नौकरी के लायक नहीं हैं क्युकी skills उतने अच्छे से devlope नहीं हैं इसलिए masters या phd कर के भी लोग चपरासी कके पद के लिए आवेदन करते हैं यानी आप खुद सोचिये की आपने phd इसलिए करी थी की आपको चपरासी बनना था,  तीसरे तरह के लोग वो होते हैं जो नौकरी करना चाहते हैं, काबिलियत भी होती, नौकरी भी लग जाती हैं, पर नौकरी मनपसंद नहीं होती.

Also Check : Best Whatsapp Status in Hindi | वटसैप के सबसे अच्छे मेसेज

How to Choose or Make Your Career

How to Choose or Make Your Career

90% लोग इसी category को belong करते हैं. इस category में आते हैं वो पूरा हफ्ते छुटी का इंतज़ार करते हैं और फिर दोबारा monday को वो मायूस हो जाते हैं. और saturday – sunday वो सोचते हैं चलो पीछा छुठा, बला टली. 90% लोग ऐसे ही होते हैं, उनकी जिंदगी बिलकुल ऐसे ही चलती हैं. यानी ये जो आदमी हैं ये पांच – दस – बीस – चालीस साल तक एक काम को करता हैं और ये वो काम होता हैं जो उसको पसंद नहीं होता. वो इसका काम को इसलिए कर रहा होता हैं क्युकी उसे पैसे चाहिए. उसे कोई sense of fulfillment नहीं हैं और ऐसा क्यों होता हैं. इसकी केवल 2 वजह हैं पहली वजह : तो ये हैं की carrer counciling के नाम पर आज भी कुछ भी नहीं होता. ज्यादातर students के सामने ये हैं की अगर maths ले रहे हैं तो engineers बन जाएंगे. biology ले रहे हैं तो doctor बन जाएंगे.

Also Check : Hasya Kavita in Hindi | हास्य कविता हिंदी में

How to Choose or Make Your Career

 

How to Choose or Make Your Career

commerce ले रहे हैं तो CA बन जाएंगे चौथा ओपिओं हैं LLB करके वकील बन जाएंगे. पांच हजार तरह की नौकरियां हैं जिनके बारे में लोगो को मालूम ही नहीं हैं. ज्यादातर लोग ये जानते ही नहीं हैं की अगर आपको एक – दो चीज़े भी थोड़े सी ठीक ठाक तरीके से आती हैं तो आप आराम से 15 – 20 हजार की नौकरी कर सकते हो. हर नौकरी के लिए एक अलग तरह का skill set होता हैं. अगर वो skill तराश लिया जाए. तो job लग जाएगी पर skill नहीं तराशा हुआ होता हैं क्युकी carrer counciling नहीं हुई हैं और क्युकी मालूम ही नहीं हैं की कितने तरह की नौकरियां हैं इसलिए ये तीन तरह की categories बनी हैं पहली नौकरी करना चाहते हैं पर काबिलियत ही नही, दूसरी करना चाहते हैं काबिलियत भी हैं पर लगती नहीं, तीसरे करना कहते हैं काबिलियत हैं लग भी गयी पर वो पसंद ही नहीं हैं.

Also Check : Poem on Mother in Hindi | माँ की कविताएँ

How to Choose or Make Your Career

 

How to Choose or Make Your Career

और ये सब क्यों हुआ. ये इसलिए हुआ क्युकी carrer counciling हुई ही नहीं कभी भी. दखिये हमने आपको बहुत अच्छे से सिखा दिया हैं की आपको अपनी कमियों का दोष दुसरो पर किस तरह से रखना चाहिए और कोई भी scientific तरीके से. अब दूसरी वजह भी सुन लीजिये. देखिये 10th ,11th, 12th, 1st year, 2nd year, final year ये किसी भी इंसान की ज़िन्दगी का सबसे precious समय होता हैं, सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण और इस precious समय के अंदर 10th ,11th, 12th, 1st year और 2nd year तक में किसी भी student के कान होते ही नहीं हैं. कुछ भी बोल दो. इन पांचो साल में कोई student सुनता ही नहीं हैं. final year में जब वो आ जाता हैं तब वो newspaper और internet देखता हैं और उसको समझ में आता हैं की यार मुझे तो बहुत सारी चीज़े नहीं आती.

How to Choose or Make Your Career

How to Choose or Make Your Career

मुझे तो अपने subject की ही knowledge नहीं हैं यार और subject knowledge तो छोड़ दो, मुझे तो english तक नहीं आती. अब ये बिलकुल डर गए हैं, अब ये बिलकुल होश में आ चूका हैं. इस वक़्त इससे जो चीज़ बोला जाएगा ये वो चीज़ करेगा पर अब time नहीं हैं. कुछ students जो होते हैं वो अभी भी अपने जाते वो graduation खत्म करने के बाद MBA करने चले जाते हैं और MBA करने के बाद फिर competative exam की तैयारी करने चले जाते हैं और 2 – 4 तैयारी करने के बाद जो नौकरी मिल जाती हैं, सरकारी नहीं, जो नौकरी मिल जाती हैं वो करने लग जाते हैं और बाकी की जिंदगी saturday और sunday का इंतज़ार करते हुवे निकालते हैं. 90% time ऐसा ही होता हैं. बाकी के जो 10% हैं ये या तो 10th में जाग जाते हैं और अगर 10th में नहीं जागते तो first year तक जाग ही जाते हैं और ये लोग चौथी category बनाते हैं. नौकरी भी करना चाहते हैं, काबिलियत भी होती हैं, लग भी जाति हैं और मनपसंद लगती हैं. और इनके लिए सातो दिन समान होते हैं . एक जैसी ख़ुशी लेकर आते हैं. पर इसका मतलब ये नहीं हैं की अब कुछ भी नहीं हो सकता हैं. जब जागो तब सवेरा.

How to Choose or Make Your Career

हम आपको पांच rules बताएंगे आप इन पांचो rules को follow करो और 6 महीने तक करो और आप देखोगे की आपको निराशा हाथ नहीं लगेगी. 6 महीने और कोई जादू नहीं हो जाएगा पुराने परेशानियां धीरे धीरे ही कटेंगी. अगर आप एक साल तक इन rules को follow कर लो आप एक बहुत ही शानदार carrer बना लोगे. अच्छा carrer बनाने के लिए आप को ये पांच rules follow करने पड़ेंगे. इसी क्रम में करने पड़ेंगे और इन में बाल बराबर भी फर्क नहीं किया जाना चाहिए.

How to Choose or Make Your Career

rule number 1 – सबसे पहले आप कागज़ पर लिखो की वो पांच चीज़े क्या हैं जो आपको अपने jobs से चाहिए. अब जिस चीज़ को जो आपके लिए important हैं उस चीज़ को सबसे ऊपर रख दीजिये और जो सबसे कम important हैं उसको सबसे निचे रख दीजिये. इसका केवल और केवल एक फायदा हैं वो ये की आप saturday – sunday का इंतज़ार नहीं करेंगे. जब तक आप नौकरी करेंगे इस चीज़ को करते समय गलती ना हो, इसलिए हम आपको एक example दे रहे हैं. इसमें आप बिलकुल इमानदारी से लिखना क्युकी ये कागज़ आपको दिखाना नहीं हैं. अब वैसे तो आप पांचो में पैसा पैसा पैसा पैसा और पैसा ही लिखना चाहोगे लेकिन नहीं 😉 अपनी मन की बात लिखनी हैं.
सम्मान
प्रसिद्धि
पहचान
अमरत्व
पैसा

How to Choose or Make Your Career

rule number 2 – Know yourself – अपने आप को जानो – ज्यादातर लोग अपने बारे में कुछ भी नहीं जानते और ऐसा इसलिये होता हैं क्युकी उनसे कभी पूछा ही नहीं जाता की आप हो कौन? इसकी सबसे बड़ी परेशानी ये होती हैं की जब interview होता हैं तो ये आमतौर पर पुचा जाने वाला सवाल होता हैं की आपकी hobbies क्या हैं? आपकी strengths क्या हैं? आपकी weakness क्या हैं? और इसीलिए ज्यादातर लोगो की जो hobby होती हैं वो होती हैं Listening to music strengths जब पूछते हैं तो कहते हैं की मैं hardworking हूँ, honest हूँ, loyal हूँ और weakness में बोलते हैं की sir मैं short tempored हु लेकिन फिर I cannot tolerate lazy people. देखिये जब भी आप अपनी ज़िन्दगी में interview देंगे.

How to Choose or Make Your Career

तो आपसे चार चीज़े पूछी जाती हैं. पहली चीज़ होती हैं introduction, दूसरी चीज़ होती हैं hobby, तीसरी चीज़ होती हैं strengths और चौथी चीज़ होती हैं weakness. ये चारो चीज़े हमेशा पूछी जाती हैं और इसलिए इनके बारे में मालूम होना चाहिए. और इसलिए भी मालूम होना करना चाहिए इन चीजों को ताकि हमे exactly मालुम चले की हम क्या करने में सक्षम हैं और क्या बिलकुल भी नहीं हो सकता. आपने ये चीज़ facebook और whatsapp में पढ़ी होगी messages में की ‘nothing is impossible’ या फिर ‘even थे word impossible says that I am possible’ इन चीजों को आप बिलकुल भी seriously मत लीजिये हर आदमी काम नहीं कर सकता तो आप अपनी strenghts और weakness मालूम करिए और उस हिसाब से, उस दिशा में आगे बढिए. अपनी strengths और weakness जानने का सबसे अच्छा तरीका हैं SWOT analysis
देखिये आपको चार मैं चीज़े ल्किह्नी हैं और उसके निचे topic के अच्कोर्डिंग strenghts, weakness, threats और opportunities लिखेंगे.

How to Choose or Make Your Career

strenghts क्या क्या हैं? दुसरे में लिखते हैं हमारी weakness क्या क्या हैं. ये दोनों लिखने में आप जितने भी लोगो की मदद ले सकते हैं लीजिये. मम्मी पापा से पूछिए, दोस्तों से पूछिए, भई – बहनों से पूछिए, teachers से पूछिए. और अपनी strenghts और weakness सही सही लिखने की कोशिश कीजिये. फिर तीसरे खाने में हम ये लिखेंगे की इन strenghts और इन weakness के साथ आप क्या क्या काम कर सकते हैं और चौथे खाने में लिखेंगे की इन streng ths और इन weakness के साथ आप जो भी काम करेंगे उसके बिगड़ जाने पर क्या क्या खतरे हो सकते हैं या क्या क्या वजहे हो सकती हैं. इसका example देखिये ये SWOT analysis.

How to Choose or Make Your Career

Strengths :
voice
Presentation skills
Subject knowledge
Well read
Disciplined
Weakness :
Insufficient Cyber Skills
Does not like to take Orders

Threats :
Epihemerallity
Penurious customers
Ignoromous customers

opportunities :
Teacher/Public Speaker
/BPO/Trainer/Marketing/
Medical Trancription/
Business Transiction/Sales

How to Choose or Make Your Career
Rule number 3 : Never Work on your weakness, कभी भी अपनी कमजोरियों को दूर करने की कोशिश मत करो उनको वैसे ही रहने दो पर अगर तुम्हारी कमजोरी तुम्हारी मज़बूरी बन जाती हैं तो फिर उस पर मेहनत करो और डट कर मेहनत करो. इसका एक example समझ लेते हैं. एक बच्चा हैं 10th class में पढता हैं वो english के अंदर 50% marks ले कर आ पाता हैं और उसका maths बहुत अच्छा हैं और उसके अंदर वो 80% marks लेकर आता हैं तो इस बच्चे को english पर काम नहीं करना चाहिए इसको maths पर ही काम करना चाहिए क्युकी वो maths में वैसे ही अच्छा हैं और आराम से 100% भी ला सकता हैं. क्युकी अगर ये बच्चा english के ऊपर मेहनत करेगा तो एक तो उको ज्यादा समय देना पड़ेगा और ज्यादा से ज्यादा ले कर आ भी पाएगा तो 70% लेकर आएगा पर क्युकी ये english पर ज्यादा मेहनत कर पाएगा इसलिए maths में कम करेगा और maths में % कम हो जाएगी मतलब कमजोरियों पर मेहनत मत करो. अब एक example और लेते हैं. एक बच्चा हैं वो maths के अंदर 90% marks लेकर आता हैं.

How to Choose or Make Your Career

पर english के अंदर 30 या 35 ही लाता हैं यानी वो fail भी हो सकता हैं, paas भी हो सकता हैं मतलब इस बच्चे की जो की english के अंदर 30 – 35 तक ला रहा हैं. english उसकी कमजोरी हैं english उसकी मज़बूरी हैं और इसीलिए इस बच्चे को आप english के ऊपर मेहनत करना चाहिए और डट के मेहनत करना चाहिए. ऐसा इसलिए की जितने समय में और जितनी मेहनत करके हम अपनी कमजोरी को जरा सा दूर कर पाते हैं. उतनी मेहनत और उतने समय में हम अपनी शक्तियों को 10 गुना बढ़ा सकते हैं.

How to Choose or Make Your Career

Rule Number 4 – चरण वंदना :
जो भी आपके college को जो seniors हैं और जो proffessors हैं उनकी respect करो, उनकी इज्ज़त करो. अपने seniors और अपने teachers दोनों से पूछो की sir मेरे लायक कोई काम हो तो जरुर बताइए और अगर वो कुछ काम दे और उस काम को करने में थोड़ी परेशानी भी होत्ती हैं तो उ परेशानी को उठाओ ऐसा क्यों? देखिये कुल मिला कर जितनी भी नौकरियां होती हैं उनमे से केवल 25% नौकरियां ही newspaper या internet पर छापी जाती हैं बाकी की 75% नौकरियां होती हैं उनका advertisement कभी भी नहीं आता. उन सभी vacancy को inter – reference से भर लिया जाता हैं अब inter – reference क्या होता हैं? manager होता हैं और वो आकर announce करता हैं.

How to Choose or Make Your Career

की अपनी companies में vacancy हैं और तुम्हारी पसंद का या पहचान का कोई आदमी हो जो यहाँ पर अच्छे से काम कर सके तुम्हारी तरह तो बताओ उसको, बुलाओ, उसको यहाँ पर लेकर आओ. यानी total job market का 75% हिस्सा तो तुम्हे मालुम ही नहीं चलेगा की ये हैं की नहीं हैं. और दूसरा सबसे बड़ा सवाल ये भी उठकर खड़ा होता हैं की भई तुम inter – reference लाओगे कहाँ से? ये reference आती हैं चरण वंदना से. देखो जो आपके senior हैं उसके नौकरी तुमसे पहले लगेगी यानी जब campus में recruitment चालु होगा तो तुम अपने seniors पूछ सकते हो की sir, क्या क्या सवाल पूछे गए. और भले ही तुम्हारे seniors को उन सवालो का जवाब नहीं मालूम हो. तब भी तुम्हारे पास पूरा एक साल होगा उन सवालो का जवाब ढूंढने के लिए.

How to Choose or Make Your Career

भले ही उसका selection हो या ना हो. तुम्हे questions तो मालूम चल गए. अगर तुम्हारे 100 seniors हैं तो तुम सभी से बात करते थे, सभी की चरण वंदना करते थे तुम्हारे पास भले ही 100 सवाल आ गए पर उनका जवाब ढूंढने के लिए तुम्हारे पास एक साल पूरा हैं हैं यानी भले ही उसकी नौकरी लगी हैं या नहीं लगी हैं तुम्हारी जरुर लगेगी. दूसरा फायदा जिस senior की भी नौकरी लग गयी हैं क्युकी तुमने graduation में उसे good morning sir, madam कही थी जब भी company के अंदर job requirement होगा वो inter – reference तुम्हे मिलेगी ऐसा क्यूँ होगा? ऐसा इसलिए होगा क्युकी तुमने अपने उस senior की तब इज्ज़त करी थी जब उसके माँ – बाप उसको नाकारा समझते थे.

How to Choose or Make Your Career
rule number 5 – investing yourself : अपने ऊपर खर्चा करो. अब अपने ऊपर खर्च करने का मतलब ये नहीं होता की अच्छे कपडे पहन लिया, या अच्छा mobile ले लिया या अच्छी bike ले ली. invest करने का मतलब होता हैं समय और पैसा इस तरह से खर्च करना की जिस से आपकी knowledge, skills और employbility बढे. motivational किताबे पढ़िए, self health की किताबे पढ़िए. अपने पुरे subject को wikipedia पर देख लीजिये. अपनी english improve कीजिये. body बनाइए, gym जाइए, community service कीजिये.

How to Choose or Make Your Career

इसका फायदा यह होता हैं की आपका जो resume होता हैं वो बहुत ही वजन दार हो जाता हैं. साथ ही साथ ये भी की जो कुछ भ आप कर रहे हैं उन सब चीज़ को facebook पर जरुर upload करिए. जितने भी HR के लोग होते हैं. वो किसी भी candidate को recruit करने से पहले उसकी facebook profile जरुर देखते हैं. उससे सही सही अंदाज़ा लग जाता हैं की वो इंसान कैसा हैं. अपनी facebook profile जो हैं बहुत ही समझदारी के साथ बनाइए.

How to Choose or Make Your Career

यानी आपकी facebook profile देख कर ही ये लगना चाहिए की ये इंसान बहुत educated type हैं, दुसरीक हिज़ ये भी समझ लीजिये की जब आप self हेल्प और motivational किताबे पढ़ते हैं तो आपके अंदर एक positive कोना develope हो जाता हैं. जब आप wikipedia से पढ़ते हो तो आपको ना केवल ये मालूम चलता हिन् की किताब में क्या लिखा हैं बल्कि आपको ये भी मालूम चलता हैं की असल में चल क्या रहा हैं उस चीज़ के ऊपर, अगर आप एक साल से या दो साल से, या तीन साल से, या चार साल से अपनी english improve करना चाहते हैं और इसके ऊपर काम कर रहे हैं तो आप खुद सोचिये की चार साल बाद आपके english का कितना अच्छा level हो जाएगा.

How to Choose or Make Your Career

आप जब gym जाकर physical exercise करते हो तो आपकी body खुद चीख चीख कर कहती हैं की मेरी personality तो देखो, जब आप community service कर रहे होते हो तो आप real world देख रहे होते हो की असल world में क्या हो रहा होता हैं. इतना सब करने के बाद जब आप interview cabin में जाओगे तो आपको देख के ऐसा लगेगा जैसे कोई genius चल कर आ रहा हो. अब इतना सब होने के बाद आपकी facebook की profile ने और तुम्हारी personality ने आपका 80% काम तो कर दिया हैं.

How to Choose or Make Your Career

20% काम जो बचा हैं वो केवल इतना की आपको अंदर जा क्र ये बताना हैं, ये समझाना हैं की ये profile वाला इंसान जो हैं ये मैं ही हूँ तो आप इन सब rules को follow कीजिये और जितनी भी बाते आपको बताई गयी हैं उनको वैसे का वैसे follow करने की कोशिश कीजिये. और हम उम्मीद करते हैं की आप एक बहुत ही अच्छे carrer बना पाएंगे.

How to Choose or Make Your Career

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.