मेरी पसंदीदा टीचर की हिम्मत | How to Defend Cancer in Hindi

मेरी पसंदीदा टीचर की हिम्मत | How to Defend Cancer in Hindi

मेरी पसंदीदा टीचर की हिम्मत | How to Defend Cancer in Hindi : मेरे पसंदीदा टीचरों में से एक कैंसर की शिकार हो गयी थी.
इसलिए, नतीजतन, वह लगभग एक सप्ताह तक स्कूल से अनुपस्थित रही थी।
उनके कैंसर होने की खबर स्कूल में जंगली आग की तरह फैल गई थी और सभी ने सोचा कि अब वो हमेशा के लिए गायब रहेंगी और हम उन्हें कभी नहीं देख पाएंगे, यानी, वह स्कूल को उसके कीमोथेरेपी और उपचार के लिए छोड़ देगी, जो कैंसर के रोगियों को उससे उभरने में सहायक होता हैं।

Also Check : Funny Quote in Hindi

मेरी पसंदीदा टीचर की हिम्मत | How to Defend Cancer in Hindi

परंतु..
एक हफ्ते के बाद ही, हमने उन्हें अपने इकोनॉमिक्स क्लास में जाते हुवे देखा और उनके चेहरे पर एक मुस्कुराहट थी। फिर उन्होंने हमे पढाया।

जब उनकी केमो थेरेपी शुरू हुई, उसने कुछ दिनों के लिए ब्रेक लिया, वे हर ब्रेक के बाद वापस आती थी। और फिर हमे पढ़ाती थी।

Also Check : Vivekananda Motivational Quotes 

कुछ समय बाद मैंने देखा की उन्होंने बहुत अधिक संख्या में बालो को खोना शुरू कर दिया था और अंत में उनके सर पर एक बाल भी ना बचा । अगले दिन, हमने उन्हें एक विग (नकली बाल) पहने हुए देखा। और उस दिन भी उन्होंने हमे पढाया।

मेरी पसंदीदा टीचर की हिम्मत | How to Defend Cancer in Hindi

जब भी उन्हें लम्बे ब्रेक लेने के लिए मजबूर होना पड़ता तो, हम सभी यही अनुमान लगाते कि वह हमेशा के लिए चली गई हैं, लेकिन वह हर बार वापस आ जाती, और भी ज्यादा चमकदार और प्यारी मुस्कुराहाट के साथ, वो बहुत ही दृढ़ संकल्पी और आशावादी मजबूत औरत थी।

जब भी उन्हें कोई स्कूल छोड़ कर घर में आराम करने के लिए कहता ?
तो उनका हमेशा यही जवाब होता था, “The show must go on!” (शो हमेशा चलते रहना चाहिए)

Also Check : Thought of the Day Hindi and English

2 साल (11th and 12th क्लास) तक लगातार उनगे कैंसर से जूझते हुवे देखना और इसके बावजूद उनके अंदर अपने काम का जूनून मुझे आज भी दिल की गहराइयो से प्रेरित करता हैं।

मेरी पसंदीदा टीचर की हिम्मत | How to Defend Cancer in Hindi

अगर वह कैंसर होने के बावजूद हमे पढ़ा सकती हैं, तो मैं भी बिना कैंसर के सीख तो सकता ही हूँ।
और अभी भी जब मैं यह जवाब लिख रहा हूं, तो अभी वो स्कूल के लिए तैयार हो रही होगी, अपने डरो को दबाते हुवे। वह आज फिर से पढ़ाएंगी ! : ‘)

Also Check : Best Inspirational Thought | Inspirational Messages

मेरी पसंदीदा टीचर की हिम्मत | How to Defend Cancer in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.