अपने व्यक्तित्व में निखार कैसे लाएं | How to Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi : hello दोस्तों! कैसे हैं आप(बहुत नींद आ रही हैं) आप सभी का यहाँ पर स्वागत हैं (मन तो नहीं हैं लिखने का लेकिन फिर भी लिख रहे हैं) आ……….(उबासी लेते हुवे)

Also Check : Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi : आप सोच रहे होंगे की ये सब क्या हैं लेकिन हम आपको बता दे की अगर आप इस तरह के लेख पढ़ रहे हो तो आपको बिलकुल मजा नहीं आएगा. आपके दिमाग में ख्याल आएगा की जब लिखने वाला ही इतना सुस्त हैं तो वो भला personality develpment पर कहाँ से tips देगा. और आप आगे पढेंगे भी नहीं और शुरू में ही bore हो जाएंगे.

Also Check : Good Morning Photos with Quotes

 

How to Personality Development in Hindi : हर powerful speaker में आपने ये देखा होगा की उनके खड़े होने में एक depth होती हैं, उनके चलने में, उनकी entry में, उनके दिखने में एक दम सबकुछ perfect होता हैं. उनको सुनना अच्छा लगता हैं so, it means की body language और tone of voice बहुत ही important हैं Personality Development के लिए. infact एक research भी ये कहती हैं की body language हमारी communication का 55% part हैं और tone of voice 38% और 7% spoken words हैं

Also Check : Good And Evil Quotes in Hindi

How to Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi : और बाकी सब हमारी non – verbal – communication skills हैं और क्यूंकि ये important हैं तो आपको इसके बारे में पता होना चाहिए. so here are some tips on personality develpment in which body language is so damn important जिसमे body language बहुत important हैं जिस वजह से हम यहाँ उसे elaborate कर के बताएंगे. :

Also Check : How to Choose or Make Your Career in Hindi

How to Personality Development in Hindi

1. posture (यानी की आपके खड़े रहने का तरीका) : जब भी आपकी turn आती हैं या आपका नाम announce होता हैं stage पर तो आप अपने मन में 1 – 2 और 3 बोल दो. ये 1 – 2 और 3 seconds आपके लिए एक turn kick हैं जिसकी वजह से आप अचानक एक बार flow के साथ चले जाते हो और nervousness को लेकर stage पर नहीं जाते और आपको 1 – 2 और 3 कहते हुवे time मिलता हैं अपनी body पर control adobt करने का, अपने posture को adobpt करने का और इसी वजह से आप calm तरीके से confident तरीके से stage पर जा पाते हो.

Also Check : Best Whatsapp Status in Hindi

How to Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi

जब आप खड़े होते हो तो आपकी chin उठी हुई होनी चाहिए, shoulders broad होने चाहिए और अगर आपके आगे table पड़ा हैं तो उसके ऊपर lane मत करो यानी की हाथ fold कर के और फैला कर मत बैठो. ये बहुत ही casual approach लगती हैं और आपके जो feet हैं वो shoulders जितने चौड़े होने चाहिए. कुछ लोगो को आदत होती हैं की heels और toes पर आगे पीछे होते रहने की लेकिन ये nervousness show करता हैं इसको avoid करो. अपनी शुरू – शुरू की speeches में आप podium (इमारत या भवन पर लगी मेज़) के पीछे खड़े होकर बोल सकते हैं लेकिन ये बहुत ही formal और rigid approch लगती हैं.

Also Check : Slogans in Hindi

How to Personality Development in Hindi

अगर आप podium छोड़ के और center में आकर podium के side में खड़े हो कर बोलेंगे तो audience के साथ ज्यादा connection बना पाएंगे.

2. gesture : आपकी hand moment वैसी ही होनी चाहिए जैसी आप अपने दोस्तों से बात करते वक़्त रखते हो और family members के साथ जैसी hand moments रखते हो वैसी. हां लेकिन अगर audience का size large हैं ज्यादा हैं तो उस case में थोड़ी से large hand moments कर सकते हो. example के लिए जैसे की बूंदी मंदिर के top पर होगी तो उसे थोडा बड़ा बनाना होगा ताकि नीचे से लोग उसको देख पाएं. ऐसे में अगर audience ज्यादा हैं तो थोड़ी सी ज्यादा hand moments रखने होंगे. hand moments के लिए आप tv में लोगो को देख सकते हो,

Also Check : Hindi Rhymes

How to Personality Development in Hindi

खुद को mirror में observe कर सकते हो practice करते time, अपने आप को record कर के practice कर सकते हो और खुद को improve कर सकते हो. Presentation देते हुवे हाथ में पकड़ी हुई ring के साथ खेलते रहना या pointer के साथ खेलते रहना या notes के साथ कुछ करते रहना इससे आपकी nervousness नज़र आती हैं. हाथ पीछे मत करो, और fold कर के भी मत खड़े होऊ इससे आप defensive और non – interested नज़र आते हो, हाथ pocket में भी मत रखियेगा वो बहुत casual लगता हैं और कई लोगो को itching यानी खुजली करने की आदत होती हैं बीच presentataion में तो आप उससे तो अच्छे से दूर ही रहे.

Also Check : Gk Question in Hindi

How to Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi

3. eye contact : “कोई आँखों आँखों से बात कर लेता हैं, कोई आँखों आँखों से मुलाक़ात कर लेता हैं, लेकिन बड़ा मुश्किल हैं खामोश रहना जब कोई खामोश रहकर आँखों से सवाल कर लेता हैं.” हमारा eye contact दिवाली gift की तरह हैं जैसे दिवाली gift देते रहो तो दीवाली gift आते रहेंगे ठीक वैसे ही अगर आप अपनी audience को अपनी eye contact के साथ attention देते रहोगे तो वैसे ही वो भी आपको attention देते रहेंगे और आपको attention मिलती रहेगी.

Also Check : Thoughts in Hindi

How to Personality Development in Hindi

अगर आपका audience size छोटा हैं तो आप हर किसी को attention दो हर किसी से eye contact रखो लेकिन अगर audience size बड़ा हैं तो अगर आप एक area में भी एक individual को देख रहे हो तो उनके आस पास सबको लगता हैं की आप उन्हें देख रहे हैं तो बड़े audience में आप एक एक किसी किसी को देखते रहो उससे सब cover होते जाएंगे. वैसे तो अपनी audience में सबको cover करना जरुरी हैं लेकिन अगर आप nervous हो रहे हो तो उस moment पर आप उन लोगो पर focus कर सकते हो जो आपको positive response दे रहे हैं फिर जैसे ही आप confidence gain करते हो तो दोबारा सबको cover कर सकते हो.

Also Check : Swami Vivekananda Inspirational Quote

How to Personality Development in Hindi

कुछ लोग speech या presentation देते वक़्त ऊपर देखते रहते हैं या फिर नीचे देखते रहते हैं. वो eye contact नहीं बनाते उससे nervosness नज़र आती हैं और audience को पता चलता हैं की आप prepare नहीं हो so, आगे से ऐसा करने से बचियेगा.

Also Check : Educational Quotes in Hindi

How to Personality Development in Hindi

4. tone of voice : जैसे हारमोनियम में एक सुर बजता रहेगा तो वो अच्छा नहीं लगेगा उल्टा कानो को चुभेगा ही वैसे ही अगर आप dull, flat और montonous आवाज़ में बात करते हो तो लोग आपके साथ interest loose कर जाएंगे वही आप आपकी voice में energy हैं, meaning हैं, life हैं तो लोग उसमे interested रहेंगे तभी आप लोगो के interest में interest gain कर पाओगे so आप एक ही सुर में अपनी speech मत देना जैसे naturally बात करते हैं वही natural tone आपकी speech में या आपकी presentation में होनी चाहिए. अपनी tone को, face को, volume को animate करो. अपने topic के content के हिसाब से कभी slow, कभी fast, कभी depth, कभी variation animate करते रहो यानी की बनाते रहो लेकिन ये variation natural लगनी चाहिए लेकिन इतनी भी ज्यादा variation नहीं होनी चाहिए की लोगो को गाना लगना शुरू हो जाए.

Also Check : Best Inspirational Quotations

How to Personality Development in Hindi

How to Personality Development in Hindi

हाँ एक चीज़ और जिस चीज़ में आप believe नहीं करते उस चीज़ को stage पर मत बोलो क्यूंकि अगर आप ऐसा करेंगे तो आपकी आवाज़ में झूठ साफ़ नज़र आ जाएगा और लोग वो पकड़ पाएँगे.

Also Check : B. R. Ambedkar Essay in Hindi

How to Personality Development in Hindi

5. volume : when it comes to volume तो कुछ लोग इतना धीरे बोलते हैं की आवाज़ सुनने वाले लोगो तक पहुँचाना ही मुश्किल हो जाती हैं और कुछ लोग इतने loud हो जाते हैं की कानो को चुभना शुरू हो जाती हैं. अगर आपके हाथ में mike हैं तो surely आपकी आवाज़ सबके कानो तक पहुँच जाएगी लेकिन अगर mike नहीं हैं group छोटा हैं तो हम आपको एक technique बता देते हैं अपना volume decide करने के लिए जो इंसान group के last में बैठा हैं उसको देखो और उसके हिसाब से अपना volume set कर लो की मुझे उस तक अपनी आवाज़ पहुंचानी हैं क्यूंकि अगर उसको आवाज़ पहुँच गयी तो सारे group को पहुँच जाएगी. simple! 🙂

Also Check : Slogan in Hindi on Corruption

How to Personality Development in Hindi

6. Clothes : Clothes का काम सिर्फ आपको cover करना नहीं हैं वो आपके बारे में बात भी करते हैं. आपने क्या colours पहने हैं वो लोगो के कानो में जा कर आपके बारे में बताते हैं. आपके shoes announcement करते हैं, आपकी shirt, आपके trousers आपको represent करते हैं, आपके लिए presentation देते हैं. it means आपकी dressing आपकी audience को आपके बारे में बताती हैं की आप खुद के बारे में क्या समझते हो और आप audience के बारे में क्या सोचते हो वो भी. ये सब चीज़े आपकी dressing से पता चलती हैं. so, always say what you think make you confident and you will feel good about yourself

Also Check : 14 Books You Should Read Before You Die in Hindi

How to Personality Development in Hindi

7. Smile : “जरा मुस्कुरा दे – मुस्कुरा दे ऐ हंसी” जिन लोगो के चेहरे पर friendly expression होते हैं उनसे लोग जल्दी agree करते हैं और उनकी तरफ जल्दी attract होते हैं so, face पर smile रखने से आप एक friendly relation maintain कर पाते हो. which makes you pleasant and good smiling faces जल्दी याद भी होते हैं और इससे आपको खुद भी feelgood factor अपने अंदर महसूस होगा लेकिन ये smile natural होनी चाहिए over smile भी मत कीजियेगा.

Also Check : Environment Speech in Hindi

How to Personality Development in Hindi

so, ये थी कुछ tips जो आपके बात करते समय बड़ी audience में आपकी मदद करेगा और आपका व्यक्तित्व निखारने में आपकी मदद करेगा.

हमे आशा हैं की हमारा ये लेख आपकी ज़िन्दगी में एक बदलाव लेकर आएगा जो आपको सफलता की ओर बढ़ने में आपके लिए बहुत सहायक रहेगा. यदि आपको हमार लेख पसंद आया हो तो हमे comment section में अवश्य बताएं.

Also Check : Republic Day Speech in Hindi

How to Personality Development in Hindi

यदि आप अपना कोई लेख हमारे साथ बांटना चाहते हैं तो हमसे contact menu में जा कर संपर्क साध सकते हैं नहीं तो comment section में भी बता सकते हैं.
धन्यवाद! 🙂

Also Check : Blood Donation Slogans in Hindi

How to Personality Development in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.