Love Kahani in Hindi | प्यार का सागर हैं ये प्रेम कहानी

Love Kahani in Hindi

Love Kahani in Hindi : “एक लड़की भीगी भागी सी..” रेडियो में ये सुंदर सा गाना बज रहा था, बाहर बारिश हो रही हैं और अक्षय अपने कमरे में अकेला बैठा था.

अक्षय के हाथ में newspaper था लेकिन ध्यान शायद कही और ही था किसी के ख्यालो में लेकिन किसके ये वो भी नहीं जानता था.

Also Check  : Amazing Antarctica Facts in Hindi

Love Kahani in Hindi

Love Kahani in Hindi

 

बाहर जोर – जोर से बादलो के गरजने की आवाज़ सुनाई दे रही थी.

अचानक से एक लड़की दौड़ती हुई उसके घर के बाहर आई और घर के नीचे की लम्बी छत के नीचे पनाह लेने लगी. अब क्यूंकि वो बारिश से दूर थी तो बालो को अपने scarf से थोडा बहुत सुखाने की कोशिश कर रही थी. उसने दरवाज़े को देखा और खटखटाने का सोचा.

Also Check  : A Story that will Change Your Life in Hindi

Love Kahani in Hindi

Love Kahani in Hindi

दरवाज़ा खुला और एक बहुत ही सुंदर सा आदमी, चेहरे पर smile लेकर खड़ा था.

“Hi! क्या आप मुझे अंदर आने देंगे? मेरी कार खराब हो गयी हैं और यहाँ पर दूर दूर तक कोई mechanic भी नहीं दिख रहा हैं..”

“हाँ! जरुर अंदर आ जाओ”, अक्षय ने एक दम सलीकेदार तरीके से कहा!

अब अक्षय ने दोनों के लिए 2 कप चाय बनाई. और वो बाते करते करते सोफे पर बैठ गए.

Also Check  : Nirma Success Story of Karasanbhai Patel

Love Kahani in Hindi

 

कई घंटे बीत गए थे लेकिन अभी भी ऐसा लग रहा था जैसे अभी तो उनकी बाते शुरू हुई हैं. अक्षय उस लड़की को अपनी job के बारे में बता रहा था और साथ ही अपनी hobbies के बारे में भी की उसे नयी नयी novels पढना और painting करना कितना ज्यादा अच्छा लगता हैं और अभी के समय में उसकी सबसे बड़ी दिक्कत हैं उसकी माँ की जिद्द. वो कितना ज्यादा चाहती हैं की अक्षय जल्दी से जल्दी शादी कर ले और अपना घर बसा ले.

Also Check  : Thought of the Day Hindi and English

Love Kahani in Hindi

बीच में बाते करते करते, दोनों की हंसी की आवाजों से पूरा कमरा खिल उठता हैं, वो एक दम बच्चो की तरह हंस रही थी. अक्षय के अंदर कुछ अलग सी बुद्धिमानी झलक रही थी जो उसे काफी आकर्षक बना रही थी और यही चीज़ बार – बार उस लड़की को उसकी आँखों में डूबने से रोकने में असफल थी.

Also Check  : The Secret in Hindi

Love Kahani in Hindi

आखिरकार, सुबह के चार बज चुके थे, बारिश की बूंदों ने भी थिरकना बंद कर दिया था. वो उठी और उसने अक्षय से कहा , “अक्षय, अब मुझे जाना होगा. मुझे लगता हैं बारिश रुक चुकी हैं.”

अक्षय का अंदर से मन नहीं था की वो जाए, लेकिन वो उसे छोड़ने दरवाज़े तक आया.

जब तक वो दरवाज़े तक पहुंची, वो एक बार मुड़ी और उसने कहा, “अक्षय, thank you so much मेरी मदद करने के लिए इस ताबड़तोड़ बारिश में. मुझे ये रात हमेशा याद रहेगी.”

Also Check  : नौकरी करने में इतने व्यस्त न हो जाएँ कि पैसे बनाना भूल जाएँ

Love Kahani in Hindi

Love Kahani in Hindi

इतने में वो चुप हो गयी लेकिन अचानक उसके दिमाग में जाने क्या आया उसने कहा, “किसी दिन मैं तुम्हारा ये एहसान चुकाना चाहूंगी” और उसने अक्षय के गालो में एक प्यारी सी kiss की.

“क्या हम किसी दिन coffee पर मिल सकते हैं? मेरा घर civil lines के सामने हैं.”

“जरुर! लेकिन, तुम्हारा नाम क्या हैं, मैं इतना बेवकूफ हूँ इतनी देर बात करने के बाद तो ये पूछना भूल ही गया!” अक्षय ने मुस्कुराते हुवे कहा.

Also Check  : Rainy Season in Hindi

Love Kahani in Hindi

“प्रिया”, उसने मुस्कुरा कर कहा.

इतने में बारिश दोबारा शुरू हो गयी और radio में इतने में दूसरा प्यार भरा गाना बजने लगा – “अभी ना जाओ छोड़ कर के दिल अभी भरा नहीं..”

Also Check  : नौकरी करने में इतने व्यस्त न हो जाएँ कि पैसे बनाना भूल जाएँ

Love Kahani in Hindi

Love Kahani in Hindi

3 comments

    1. हमे ख़ुशी हुई बिमल जी की आपको ये कहानी पसंद आई.
      HindPatrika में और लेख पढने के लिए ऐसे ही कमेंट लिख कर हमे प्रेरित करते रहिएगा. 🙂

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *