Mothers Day Story in Hindi | माँ की ममता क्या हैं

Mothers Day Story in Hindi

Mothers Day Story in Hindi : माँ सिर्फ एक शब्द नहीं बल्कि एक दुआ हैं जिसे खुद खुदा ने हमे नवाज़ा हैं ऐसा तो सभी कहते हैं लेकिन क्या कभी उस माँ की दुआ सुनी हैं जो आपके बिन बोले सारी बात समझ जाती हैं वैसे तो माँ पर बनने वाले सभी गानों को हम ही सुनते हैं जैसे हम उनके कितना करीब होंगे लेकिन क्या कभी सोचा हैं की जितना हम उनके पास हैं उतना ही उनसे दूर भी. क्यूंकि वो तो हमारी कही हुई सारी बातो को सुन लेती हैं लेकिन हम उनकी ज्यादातर बातो को सुन कर भी अनसुना कर देते हैं.

Also Check : Poem for Mother in Hindi

Mothers Day Story in Hindi


याद तो होगा आपको वो बचपन जब सारे दोस्तों से हमारी लड़ाई हो जाती थी तब माँ हमे समझाती थी कि लड़ाई उनसे ही होती हैं जिनसे प्यार होता हैं और माँ के लाख समझाने पर भी हम कह देते थे की माँ अब हमे उससे बात नहीं करनी तब माँ हमारी दोस्त बन जाती थी. माँ और हमारे बचपन से जुडी कई ऐसी बाते भी हैं जो उस वक़्त तो हमे काफी छोटी बात लगती थी पर अब वो छोटी बात भी हमे रुला देती हैं वही कहीं ऐसी बाते भी हैं जो हम भूलते ही जा रहे हैं.

Also Check : Self Composed Poem on Mother in Hindi

Mothers Day Story in Hindi

स्कूल में एक ज्यादा पेंसिल होने पर अगर हमारा कोई दोस्त हमसे पेंसिल मांगता था तो हम उसे वो पेंसिल हमेशा के लिए ही दे देते थे पर आज भले ही हमारे पास कोई चीज़ कितनी भी ज्यादा क्यूँ ना हो हम किसी जरुरतमंद को भी देने से पहले कई बार सोचते हैं और अगर दे भी देते हैं तो जल्दी से मांग भी लेते हैं.

Also Check : Best Poem on Mother in Hindi

Mothers Day Story in Hindi

हम आज के अपने इस लेख से सिर्फ आपको ये समझाना चाहते हैं की बचपन की उस मासूमियत को ना भूले क्यूंकि माँ को अपना वो बच्चा ही पसंद हैं जो खाने के बाद उसके आँचल से अपना मुहं पोछता था ना की वो जो की कुछ 2 – 4 लोगो को देखकर उसे वो तहज़ीब का ढोंग याद आ जाता हैं और वो अपना रुमाल निकल कर अपना मुहं साफ़ करने लगता हैं.

Also Check : Poems on Mother in Hindi

Mothers Day Story in Hindi

 

Mothers Day Story in Hindi

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.