पेट कम करने के लिए योग | Pet Kam Karne ke liye Yoga

पेट कम करने के लिए फायदेमंद है योग

Pet Kam Karne ke liye Yoga

Pet Kam Karne ke liye Yoga: आज के समय में हर व्यक्ति आकर्षित दिखना चाहता है और आकर्षक दिखने के लिए हम न जाने कितने ही तरह के कपड़े और मेकअप का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन सिर्फ चेहरा ही हमें अच्छा नहीं दिखाता है बल्कि हमें खुबसूरत दिखाने में हमारा पूरा शरीर सहयोगी होता है। लेकिन बहुत से लोगो में जो सबसे बड़ी दिक्कत सामने आ रही है वह है वज़न बढ़ना। जहां तक आपके पूरे शरीर का वज़न बढ़ रहा हो तो उसे फिर भी रोका या कम किया जा सकता है लेकिन केवल हमारा पेट बाहर आ रहा हो तो वह हमें परेशान कर देता है। अक्सर हमने आस पास देखा होगा कि कई लोग देखाने में दुबले पतले होते हैं लेकिन उनका पेट बाहर आ जाता है जो उनके आकर्षण को खराब करता है। पेट बाहर आने के बाद हम उसे कम करने कि हर मुमकिन कोशिश करते हैं, दवाइयां खाते हैं, तरह तरह कि चीज़े पीते हैं। यह सब करते हुए हम यह भूल जाते है कि वज़न या पेट कम करने के लिए शरीर से चर्बी का बाहर आना ज़रूरी है जो केवल पसीने के रूप में बाहर आता है और ऐसा तब होता है जब हम अपने शरीर पर मेहनत करते है। पेट कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका है योग, योग में हर तरह कि बिमारियों का इलाज छुपा है, बस ज़रूरत है तो उसे ढ़ूंढने की।

वज़न बढ़ने या पेट बाहर आने से हमें कई तरहं कि बिमारियों और परेशानियों का सामना करना पड़ता है। योग न केवल हमारे वज़न को संतुलित करता है बल्कि यह हमें हर तरह कि बिमारियों से भी दूर रखता है। तो देखते हैं कि हमें पेट कम करने के लिए किन किन योग आसन को अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाना है।

सेतुबंधा योगासन

सेतुबंधा योगासन

इस आसन को करने कि लिए आप अपने पीठ के बल ज़मीन पर लेटे और अपने घुटनों को मोड़ते हुए पैर कि तलियां ज़मीन पर टिकाए। अपने हाथों को ज़मीन से लगाकर रखे फिर धीरे धीरे अपनी कमर को लंबी सांस लेते हुए ज़मीन से उठाए और तीस सेकंड तक रोक कर रखे और फिर सांस छोड़ते समय पहले कि अवस्था में आ जाए। इस से हमारे पेट में जमा चर्बी जल्दी कम होगी और पेट भी कम होगा।

सेतुबंधा योग के अन्य फायदे

1- यह आसन रीढ़ कि हड्डी को सीधा बनाए रखने मददगार होता है और इस आसन को नियमित रूप से करने से हमारी कमर को ताकत मिलती है।

2- अगर आपका पेट बाहर आ गया है और आप उस से बेहद परेशान है तो अपने पेट को कम करने के लिए रोज सुबह सेतुबंधा आसन करें।

3- कई बार गलत तरीके से सोने के कारण हमारी गर्दन में तनाव बन जाता है, सेतुबंधा आसन से इसे आसाना से ठीक किया जा सकता है।

4- सेतुबंधा आसन करने से हमारी मांसपेशियों को ताकत मिलती है।

यह भी पढ़े: Praval Pishti | प्रवाल पिष्ठी

कपालभाती प्राणायाम

कपालभाती प्राणायाम

इस प्राणायाम को करने के लिए आपको खुले और शांत वातावरण में बैठने कि ज़रूरत है। इसे करते समय नाक से अपने सांस को छोडे और सांस को छोड़ते समय पेट अंदर कि तरफ ले जाएं। एक बात का खास ध्यान रखे कि आपको सांस लेना नही है बल्कि बाहर कि तरफ छोड़ना है। यदी आप रोज़ सुबह इस प्राणायाम को खाली पेट करेंगे तो इस से पेट कम करने में मदद मिलेगी।

कपालभाती प्राणायाम के अन्य फायदे-

1- कपालभाती प्राणायाम पेट की चर्बी कम करने और वज़न घटाने के लिए बेहद फायदेमंद है। इसे करने से कब्ज़ और गैस जैसी समस्याओ से भी राहत मिलती है।

2- यह प्राणायाम हमारे मन में नकारात्मक विचारों को आने से रोकता है और इस से दिमाक भी तेज़ होता है।

3- नियमित रूप से कपालभाती प्राणायाम करने से गले और सांस कि नली साफ होती है और यह हमें कफ से भी राहत प्रदान करता है।

4- कपालभाती प्राणायाम हमारे आँखों के नीचे से काले घेरे कम करने में मदद करता है और त्वचा की खोयी हुई चमक लौटाता है।

बालासन योग

बालासन योग

बालासन योग करने के लिए घुटनों के बल बैठ जाए और आपका पूरा वज़न एड़ियों पर होना चाहिए। अब लंबी सांस लेते हुए ज़मीन की तरफ झुक जाए और आपकी छाती आपके जांघो को छूनी चाहिए और सिर फर्श पर। कुछ देर इस मुद्रा में रहे फिर वापस आ जाए। सुबह इसे 5 से 10 बार करने से पेट जल्दी अंदर चला जाता है।

बालासन योग के अन्य फायदे-

1- अगर आप चाहते हैं कि आपका पेट जल्दी अंदर चला जाए तो रोज सुबह इस आसन को खाली पेट करे।

2- यह प्राणायाम हमारे मांस पेशियों को मंज़बूत बनाता है और हमारे शरीर में रक्त के संचालन को भी नियंत्रण में रखता है।

अनुलोम विलोम प्राणायाम

अनुलोम विलोम प्राणायाम

मोटापे को कम करने के लिए अनुलोम-विलोम प्राणायाम बेहद फायदेमंद है। इसे करने के लिए आप ज़मीन पर पलाथी मार कर बैठ जाए और अपने बाए हाथ से नाक के एक छेद को बंद करे और दूसरे से सांस ले, फिर अपने दूसरे नाक को बंद करे और पहले से सांस ले। इस प्रक्रिया को 10 से 12 बार दोहराएँ।

अनुलोम विलोम प्राणायाम के अन्य फायदे-

1- अनुलोम विलोम प्राणायाम हमारे शरीर में रक्त के संचार को नियंत्रण में रखता है।

2- यह प्रणायाम हमे सांस कि बिमारियों से भी दूर रखता है।

यह भी पढ़े: Yoga for Weight Loss in Hindi | योग आसान वजन कम करने के लिये।

नौकासन योग

नौकासन योग

नौकासन योग करने के लिए ज़मीन पर लेट कर अपने पैरों को आपस में और हाथों को शरीर से सटा ले। धीरे-धीरे अपनी गर्दन, हाथ और पैरों को उपर कि तरफ उठाएँ, फिर अपनी पुरानी अवस्था में आ जाए। रोज यह प्रक्रिया 4 से 5 बार करने से पेट अंदर जाने में मदद मिलेगी।

नौकासन योग के अन्य फायदे

1- नौकासन योग हर्निया के इलाज में फायदेमंद होता है।

2- यह योगा हमारे आंतो को सुरक्षित रखने में मदद करता है और हमारा पाचनक्रिया भी ठीक रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.