Quran in Hindi | कुरान का असल अर्थ

Quran in Hindi

Quran in Hindi : हम आपको बताएंगे कुरान क्या हैं? उसके अंदर क्या चीज़ हैं? मुस्लमान भाइयो के लिए कुरान के सम्बन्ध में बड़ी बड़ी चीज़े लिखी गयी हैं और लिखी जा सकती हैं हैं लेकिन मेरा यहाँ पर उद्देश्य कुरान का एक संक्षिप्त परिचय और उसके उन्मत पर क्या अधिकार हैं ये स्पष्ट करूँगा. हज़रत अली से रिवायत की गयी एक अधिस हैं.

Also Check : Merry Christmas Story in Hindi | मैरी क्रिसमस की कहानी

Quran in Hindi

Quran in Hindi : हज़रत हाइस फरमाते हैं की मैं मस्जिद में प्रवेश हुआ तो देखा की कुछ लोग कुछ समस्याओ पर झगड़ रहे हैं. मैं हज़रत अली के पास गया और उन्हें इस बात की सुचना दी. हज़रात अली ने फ़रमाया क्या यह बाते होने लगी? और हमने कहा जी हाँ! हज़रत अली ने फरमाया याद रखो मैंने रसूल अल्लाह से सूना हैं खबरदार रहो! निकट ही एक बड़ा फितना सर उठाएगा और मैंने अर्ज़ किया इस फीतने से निजात का क्या साधन होगा और उन्होंने फ़रमाया अल्लाह की पुस्तक – इसमें तुमसे पूर्व गुजरे हुवे लोगो के हालत हैं, तुमसे बाद होंने वाले बातो की सुचना हैं.

Also Check : Vegetables Name in Hindi | सब्जियों के नाम हिंदी व अंग्रेजी में

Quran in Hindi
Quran in Hindi : तुम्हारे आपस के मामलात का निर्णय है. या एक दो टूक बात है हँसी दिल्लगी की नहीं है जो शरकश इसे छोड़ेगा अल्लाह उसकी कमर तोड़ेगा और जो कोई इसे छोड़ कर किसी और बात को अपनी हिदायत का जरिया बनाएगा अल्लाह उसे गुमराह कर देगा खुदा की मज़बूत रस्सी यही है यही हिकमतों से भरी हुई पुनः और स्मरण है यही सीधा मार्ग है इसके होते इच्छाएँ गुमराह नहीं करती और न ज़बानें लरखरातीं हैं ज्ञानवान का दिल इससे कभी नहीं भरता है इसे बार बार दोहराने से उसकी ताज़गी नहीं जाती है कभी पुराना नहीं होता है इसकी अजीब या विचित्र बातें कभी समाप्त नहीं होती ये वही है जिसे सुनते ही जिन हुंकार उठे थे निस्संदेह हमने अजीबो गरीब पुराण सुना जो हिदायत की ओर मार्गदर्शन करता है अतः हम इस पर ईमान लाये है जिसने इसकी सनत पर हाँ की वह सच्चा है जिसने इस पर अमल किया दर्जा पायेगा जिसने इसके आधार पर निर्णय किया उसने इन्साफ किया जिसने इसकी ओर दावत दी उसे सीधे मार्ग की ओर रहनुमाई है कुरान का सारा निचोड़ इस एक खादिस मे आ जाता है

Also Check : Hindi Grammar | हिंदी व्याकरण

Quran in Hindi

Quran in Hindi : कुरान धरती अल्लाह की अंतिम पुस्तक उसकी ख्याति के अनुरूप है ये अत्यंत आसान है और बहुत कठिन भी है आसान यह तब है जब इसे याद करने के लिए पढ़ा जाए यदि आपकी नियत में खोट नहीं है तो कुरान से हिदायत चाहतें है तो अल्लाह ने इस किताब को आसान बना दिया है समझने और याद करने के लिए भी ये विश्व की सबसे आसान पुस्तक है खुद कुरान में है और हमने कुरान को समझने के लिए आसान कर दिया है तो कोई है सोचे और समझे खुद कुरान मे लिखा हुआ है दूसरी ओर दूर्बीनी की दृस्टि से यह विश्व की कठिनतम पुस्तक है पूरी की पूरी ज़िन्दगी खपा देने के बाद भी इसकी गहराई नापना संभव नहीं है इस दृष्टि से देखा जाए तो यह एक समंदर है सदियाँ बीत गयीं और कुरान का चमत्कार अभी भी कायम है और सदियाँ बीत जाएंगी किन्तु कुरान का चमत्कार कभी समाप्त नहीं होगा केवल हिदायत पाने के लिए आसान तरीका यह है कि अटल आयतों और कमात पर ध्यान रहे और आयतों मुताशबिहाद पर ईमान हो ये भी अल्लाह की ओर से है दुनिया निरंतर प्रगति कर रही है मानव ज्ञान निरंतर बढ़ रहा है जो कुरान मे कल मुताशबिहाद था आज वो स्पष्ट हो चूका है और कल कुछ और भाग स्पष्ट होंगे इसी तरह ज्ञानजन के लिए भी दो विभिन्न तरीके अपनाने होंगे.

Also Check : Republic Day Speech in Hindi | गणतंत्र दिवस का भाषण

Quran in Hindi

Quran in Hindi : आदिशूक्ल लिहाज़ से कुरान में विचार करने वाले को पीछे की ओर यात्रा करनी होगी कुरान के आदेश का अर्थ धर्मशास्त्रों, विद्वानों ने क्या लिखा तबातबाइन तबाइन वे लोग जिन्होंने सहबान हज़रत मोहम्मद के साथियों को देखा है सहबान ने इसका यह अर्थ लिया है यहाँ तक की खुद को हज़रत मोहम्मद के क़दमों तक पहुँचा दें ये खुद साइबे कुरान का इस बार का आदेश था दूसरी ओर ज्ञान विज्ञानं के लिहाज़ से आगे और निरंतर आगे विचार करना होगा समय के साथ ही नहीं उससे आगे चला जाए मनुष्य के ज्ञान की सतह निरंतर ऊँची होती जा रही है कुरान में विज्ञानं का सर्वोच्च स्तर है और उस पर विचार कर नए आविष्कार खोज और जों वैज्ञानिक तथ्य हैं उन पर कार्य किया है यह खुदा का चमत्कार है मोजस उस चमत्कार को कहतें हैं जो किसी नबीय रसूल के हाथ पर हों और मानव शक्ति से परे हो जिस पर मानव बुद्धि आश्चर्यचकित हो जाए हर युग में जब भी कोई ईश दूत ईश्वरीय आदेशों को मानव तक पहुँचाता है तब उसे अल्लाह की ओर से चमत्कार दिए जातें है चमत्कार.

Also Check :  दौलतमंद दिखकर ही आप दौलतमंद बन सकते हैं। 

Quran in Hindi

Quran in Hindi : हज़रत मूसा को असाह दी गयी असाह मतलब हाथ की लकड़ी असाह दी गयी जिससे कईं चमत्कार दिखाए गए हज़रत ईशा को मुर्दा को जीवित करना बीमार को ठीक करने का मॉजिसा दिया गया किसी भी नबी का असल मॉजिसा वह है जिसे वह दावे के साथ पेश करे हज़रत मोहम्मद के हाथ पर सेकड़ों मॉज़ीसे वर्णित हैं किन्तु जो दावे के साथ पेश किया जाए या पेश किया गया और जो आज चमत्कार के रूप में विश्व के समक्ष मौजूद है वो है कुरान जिसकी एक चुनौती दुनिया के समक्ष अनुकृत हैं, इसके एक भाग जैसा ही बना के दिखा दिया जाए. ये दावा कुरानमें कई स्थानों पर किया गया हैं. कुरानपूर्ण रूप से स्वस्छित रहेगा इस दावे को 1500 वर्ष बीत गए और कुरानस्वस्छित हैं और अभी तक स्वस्छित हैं और ये चीज़ प्रमाणित हो चुका हैं और ये एक चमत्कार हैं. कुरानविज्ञान की कसौटी पर खरा उतरा हैं और इसके वैज्ञानिक प्रमानिको के आगे वैज्ञानिक नतमस्तक हैं. ये भी एक चमत्कार हैं. 1500 वर्ष पूर्व एक अनपढ़ व्यक्ति ने ऐसी पुस्तक प्रस्तुत की जो लोगो के सामने अपनी सत्यता प्रकट कर रही हैं. ये कार्य अगर कुरानके अलावा किसी अन्य पुस्तक ने प्रकट किया हो तो विश्व उसका नाम जानना चाहेगा. कुरानके चमत्कारिक रूप हमारे लिए हैं और हो सकता हैं आगे आने वाले समय के लिए उसका कोई और चमत्कारिक रूप सामने आए.

Also Check :  ज़्यादातर लोग इतने आलसी होते हैं कि अमीर नहीं बन सकते। 

Quran in Hindi

Quran in Hindi : जिस समय कुरानअवतरित हुआ उस युग में उसका मुख्य चमत्कार उसका वैज्ञानिक आधार नहीं था उस युग में कुरानका चमत्कार था उसकी भाषा, साहित्य, वान्मियता जिसने अपने समय के बाकी की भाषाओ को झंझोड़ दिया था. ये स्पष्ट करना उचित होगा की उस समय के अरबो को अपने भाषा के ज्ञान पर इतना गर्व था की वो विशेष धर्म के लोगो को गूंगा कहते थे. कुरानकी शैली के कारण अरब की भाषाओ ने अपने घुटने टेक दिए. कुरानऐसी पुस्तक हैं जिसके आधार पर एक क्रान्ति लायी गयी. रेगिस्तान के ऐसे अनपढ़ लोगो को जिसमे उस समय के मानचित्र में कोई महत्व नहीं था. कुरानकी शिक्षाओं के कारण उसके प्रसुतकर्ता के प्रशिक्षण ने उन्हें उस समय की महान शक्तियों के सामने लाकर खड़ा किया. और ऐसी पुरानी समाज की रचना मात्र 23 वर्षो में की गयी जिसका उत्तर विश्व कभी नहीं दे सकता.

Also Check :  Mehndi ki Design | मेहँदी की डिजाईन

Quran in Hindi

Quran in Hindi

Quran in Hindi : आज की दुनिया के करोडो मुसलमान मानते हैं की कुरानऔर हज़रत मोहम्मद ने एक आदर्श समज की रचना की. इस दृष्टि से अगर कुरानका अध्यन किया जाए तो आपको उसके साथ पग मिला कर चलना होगा. उसकी शिक्षा पर विचार करे केवल निजी जीवन में ही नहीं बल्कि सामाजिक, राजनैतिक और कानून के क्षेत्र में तब आपके समक्ष वो सभी चरित्र जो कुरानमें वर्णित हैं जीवित हो जाएँगे. वे सारी कठिनाई और यह साडी परेशानियां सामने आजमाएंगी तन – मन – धन से जो समूह इस कार्य के लिए उठे तो कुरानकी हिदायत हर मोड़ पर उसका मार्गदर्शन करेगी. यह अल्लाह की रस्सी हैं, कुरानअल्लाह की रस्सी हैं. इस बात में तर्मिज़ी में हज़रत रेज़ बिन अकरम वर्णित राजिम हैं जिसमे कहा गया हैं कुरानअल्लाह की रस्सी हैं जो धरती से आज तक तन्नी हुई हैं ये शब्द हुजुर के हैं जिन्हें हज़रात ज़ैद ने वर्णित किया हैं. दब्रानी में वर्णित एक और हजित हैं जिसमे कहा गया हैं एक दिन हुजुर मज्जिद में पधारे तो देखा कुछ लोग कोने में बैठ कर कुरानपढ़ रहे हैं और एक दुसरे को समझा रहे हैं ये देख कर आपके चेहरे पर ख़ुशी की लहर दौड़ गयी. आप साहबा के उस गुट के पास पहुंचे और उन्हें कहा की क्या तुम मानते हो की अल्लाह के अतरिक्त कोई और अन्य माबूद नहीं हैं.

Also Check : नौकरी करने में इतने व्यस्त न हो जाएँ कि पैसे बनाना भूल जाएँ 

Quran in Hindi

Quran in Hindi : मैं अल्लाह का रसूल हु और कुरानअल्लाह की पुस्तक हैं साहबा ने कहा या रसूल अल्लाह हम गवाही देते हैं की अल्लाह के अतरिक्त कोई और ईश्वर नहीं हैं. आप अल्लाह के रसूल हैं और कुरानअल्लाह की पुस्तक तब आपने कहा की खुशियाँ मनाओ की कुरानअल्लाह की वो एक रस्सी हैं जिसका एक सिरा तुम्हारे हाथ में हैं और दूसरा उसके हाथ में कुरानअल्लाह की रस्सी इस अर्थ में हैं की ये रस्सी मुसलमानों को आपस में बाँध कर रखता हैं. उनके विचारों की एकता, मत्भेद्ता में अल्लाह के निर्देशों और निर्णय जीवन के लिए एक आदर्श नमूना प्रस्तुत करता हैं. आज भी आप देखेंगे की विश्व के किसी धर्म या जाति को आप ले ले जितनी एकता मुसलमानों में हैं उतनी किसी में भी नहीं. स्वयं कुरानमें हैं की अल्लाह की रस्सी को दृढ़ता से पकड़ लो. कुरानके मूल आधार पर मुसलमानों के गुट में कोई टकराव में नहीं हैं. कुरानका अधिकार हैं कुरानकी हर मुसलमान के पांच अधिकार हैं जो उसे अपने शक्ति और सामर्थ्य के आधार पर पूरा करता हैं.

Also Check :  Jokes in Hindi | हिंदी में चुटकले और लतीफे

Quran in Hindi
Quran in Hindi : पहला तो ईमान हर मुसलमान कुरानपर ईमान रखे जैसा की ईमान का अधिकार हैं अर्थात की वाणी से स्विकिरती ना हो अथवा दिल से विश्वास रखे की ये अल्लाह की पुस्तक हैं फिर इलाहावत कुरानको हर मुसलमान निरंतर पढ़े जैसा की उसे पढने का अधिकार हैं अथाह उसे समझ कर पढ़े. उसे पढने के लिए इलाहावत का शब्द खुद अल्लाह ने बनाया हैं जिसका अरबी में शाब्दिक अर्थ हैं अनुपालन करना. पढ़ कर कुरानपर विचार करना, उसके पीछे चलना यही इलाहावत का सही अधिकार हैं. स्वयं कुरानकहता हैं अगर इसे पढने के अधिकार के साथ पढ़ते हैं तो इसका विध्य्मानो ने यही अर्थ लिया हैं की ध्यान से पढना, इसके उद्देश्यों में कोई फेर बदल नहीं करना जो उसमे लिखा हैं उसे लोगो से छुपाना नहीं. जो कुछ समझ में नहीं आए वो ब्विध्य्मानो से जानना. पढने के हक़ में ऐसी समस्त बातो का समावेश हैं. फिर समझना कुरानका तीसरा हक हैं जो की हर मुसलमान पर हैं उसको पढने के साथ समझना और साथ ही उसपर विचार गौर और फ़िक्र करना.

Also Check : कोई भी पैसा कमा सकता है, धन भेद भाव नहीं करता 

Quran in Hindi
Quran in Hindi : खुद कुरानने समझने और गौर करने की दावत मुसलमानों को दी है फिर अमल करना कुरानको केवल पढ़ना और समझाना ही नहीं है मुसलमानों पर उसका हक़ है कि वे उस पर अमल भी करें व्यक्तिगत रूप में और सामाजिक रूप में भी व्यक्तिगत मामले क़ानून राजनीति आपसी तालमेल आपसी मामलात, व्यापार सारे मामले कुरानके प्रकाश में हल किया जाए. फिर प्रसार कुरानका पांचवा अद्याय हैं की सारे लोगो तक पहुँचाया जाए हुजुर का कथन हैं की चाहे एक आयत ही क्यूँ ना हो.

Also Check : Body Parts in Hindi | शरीर के अंगो के नाम हिंदी व अंग्रेजी में

Quran in Hindi

Quran in Hindi : हर मुसलमान पर अपने सामर्थ्य द्वारा दुसरो तक पहुँचाना अनिवार्य हैं, तीसरी बात पर आते हैं की कुरानको समझने के लिए उसके प्रष्टभूमि जानना आवश्यक हैं. यह इस प्रकार की पुस्तक नहीं हैं की इसको पूरा लिख कर पैगम्बर को देकर कह दिया गया की जाओ और इसकी और लोगो को बुलाओ बल्किकुरण थोडा थोडा उस क्रांति के अवसर पर अरब ने आवरण किया और आवश्यक के अनुसार अवतरित किया गया. आरम्भ से ही जैसे कुरानका कुछ भाग अवतरित होता हैं उसे लिखवा देते हैं और यह भी बटा देते हैं की इसे किसके साथ पढ़ा जाएगा. अवतरण के क्रम से विध्य्मानो ने कुरानको दो भागो में बांटा हैं. एक माकिबाग, दूसरा मगनीबाग़. आरम्भ में मक्के में सूक्तियां उत्पन्न हुई उनकी बाते श्रेष्ठ, प्रभावी और अरबो की पसंद के अनुसार श्रेष्ठ साहित्य दर्जे वाली थी. उसके बोल दिलो में उतर जाते थे वो दैवी संगीत से कान उसको सुनने में लग जाते थे और उसके दैवीय प्रकाश की ओर लोग आकर्षित हो जाते थे या घबरा जाते थे.

Also Check :  Birds Name in Hindi | पक्षियों के नाम हिंदी व अंग्रेजी भाषा में

Quran in Hindi

Quran in Hindi

Quran in Hindi : इसमें सृष्टी के वो नियम वर्णित किये गए हैं जिन पर मानव अभी भी आश्यर्चचकित हैं किन्तु इसके लिए सारे उद्धरण स्थानीय थे. उन्ही के इतिहास, उन्ही इ माहोल ऐसे पांच महीने तक चलता रहा. इसके बाद मक्के की राजनीति और आर्थिक सत्ता पर बने हुवे लोगो ने अपने लिए इसे खतरे को भाप कर अत्यचार और दमन का वो तांडव किया की उसमे भी मुसलमानों की जो थोड़ी बहुत संख्या थी मिलकर उन्हें इथोपिया जाना पड़ा. स्वयं नवीन को घटी में बाकी के लोगो के साथ रह कर कैद में रहना पड़ा और अंत में मक्का छोड़ कर मदीना जाना पड़ा. मुसलमानों के लिए यह बहुत कठिन समय था और अल्लाह ने जो इस समय कुरानअव्तारिन किया उसमे तलवार की गाँठ और बाण की तेज़ी थी. जिसने पूरा क्षेत्र हिला कर रख दिया. मुसलमानों के लिए तसाली और कठिन समय में की जाने वाली जितनी भी प्राथनाए हैं जो आठ वर्ष की कुरानका मुख्य भाग रही थी.

Also Check : Months in Hindi | महीनो के नाम हिंदी और अंग्रेजी में

Quran in Hindi

Quran in Hindi : मक्की दौर के तेरह वर्ष बाद मदीने में मुसलमानों को एक केंद्र प्राप्त हो गया. जहाँ सारे ईमान वाले ईमान लाने वालो को एकत्रित कर तीसरे दौर का अवतरण शुरू किया यहाँ मुसलमानों का दो नए प्रकार के लोगो से परिचय हुआ. प्रथम यहूदी जो सदियों से आबाद थे और अपने धार्मिक आधार के अनुसार अंतिम नबी हिपत इच्छा कर रहे थे. किन्तु अंतिम नबी उन्होंने अपने अतिरिक्त दुसरे कौम में देखा तो उत्पात मचा दिया. कुरानमें इस दौर में अहले किताब अहले किताब मतलब ईश्वरीय ग्रंथो को मानने वाले विशेषकर यहूदी तथा इसाई अहले किताब पर कुरानमें सख्त टिपण्णी की गयी हैं इसी युग में कुटाचारियो जो एक गुट मुसलमानों में पैदा हो गया जो मुसलमान होने का नाटक करते हैं और विरोधियो से मिले रहते हैं. यही मुसलमानों को सशक्त संघर्ष की आज्ञा मिली. और निरंतर मक्कावासियों के हमलो का सामना करना पड़ा. दूसरी ओर एक इस्लामी राज्य की स्थात्पना के साथ ही पुरे समाज की रचना कर ईश्वरीय नियम अवतरित हुवे. युद्ध, शांति, न्याय, सामजिक रीती रिवाज़, खान – पान सबके बारे में ईश्वर के आदेश इस युग के पुराण की विशेषता हैं जिनके आधार पर सामाजिक बराबरी का एक आदर्श राज्य अल्लाह के रसूल राज्य जिसके आधार पर सदियों बाद भी हज़रात मोहम्मद का क्रम विश्व नायको में प्रथम माना जाता हैं. उन्होंने जीवन के हर क्षेत्र में जुबानी निर्देश ही नहीं दिए बल्कि उस पर अमल कर के दिखाया. इस प्रष्टभूमि के कारण ही कुरानमें बार बार एक ही बात को दोहराया गया हैं.

Also Check : Happy New Year Status in Hindi | नए साल के मेसेजिस और स्टेटस

Quran in Hindi

Quran in Hindi : एक ईश्वर बात धार्मिक आदेश, स्वर्ग, नरक, धेर्य, धर्मपरिवर्तन के विषय में बार बार दोहराए गए हैं. कुरानने एक सीधे साधे नेक इंसान को जो अपने परिवार में परिपूर्ण जीवन गुज़ार रहा था उसको दो महान शक्तियों के सामने खड़ा कर दिया और वो दो महान शक्तियां थी रोमन और इरानी. केवल यही नहीं उसने रेगिस्तान के नापध लोगो को ऐसे इंसान बना दिया जो पुरे विश्व पर इस सम्पदा की छाप सैकड़ो वर्ष तक भी छोड़ा नहीं जा सकता आज की तारिक तक भी. पुराने यौध, शांति, राज्य्संचालन, इबादत, परिवार के वे आदर्श प्रस्तुत किये जिसका मानव समाज में आज प्रभाव हैं.
धन्यवाद!

Also Check : How to Learn Hindi | हिंदी बोलना सीखिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.