Sabse Acha Shastr | Akbar Birbal Stories in Hindi

Sabse Acha Shastr | Akbar Birbal Stories in Hindi : एक दिन बादशाह अकबर के दरबार में चर्चा चल रही थी। बादशाह अकबर यह जानना चाहते थे कि बचाव क लिए सबसे अच्छा शस्त्र कौन-सा है। कुछ दरबारियों ने तलवार का नाम लिया, तो कुछ ने चाकू कहा। तो कुछ ने भाला कहा। तब बादशाह अकबर ने बीरबल से भी वही प्रश्न पूछा। बीरबल ने जवाब में कहा ‘महाराज, यदि कोई सबसे अच्छा शस्त्र होता तो हर व्यक्ति उसी को ही प्रयोग करता। मेरे ख्याल से मुसीबत तथा खतरनाक परिस्थिति में जो शस्त्र हाथ में हो, वही सबसे अच्छा शस्त्र होता है।” बादशाह अकबर ने कहा, “बीरबल मैं तुमसे सहमत नहीं हूँ।” बीरबल ने सोचा कि मुझे यह बात बादशाह के सामने सिद्ध करनी चाहिए। अगले दिन बीरबल अपनी बात को सिद्ध करने की पूरी तैयारी कर चुका था। हमेशा की तरह बीरबल व बादशाह अकबर शहर घूमने निकले। बीरबल बादशाह को एक तंग गली की ओर ले गया। चलते-चलते अचानक एक पागल हाथी उनके सामने आ गया। उसे देखकर बादशाह घबरा गए। बादशाह अपनी तलवार की सहायता से हाथी को रोकना चाहते थे परंतु वह जानते थे कि अकेली तलवार की सहायता से पागल हाथी को नहीं रोका जा सकता। बादशाह के पास इतना समय भी नहीं था कि तंग गली से पीछे की और भाग पाते। तभी बीरबल ने दीवार के पास एक पिल्ले को लेटे देखा।

उसने पिल्ले को उठाकर हाथी की तरफ उछाल दिया। इस प्रकार फेंके जाने पर पिल्ला डर गया। जैसे ही वह हाथी की सूंड से टकराया, उसने सूंड को कसकर पकड़ लिया। अपनी सूंड को इस प्रकार पकड़े जाने से हाथी भयभीत हो गया। जब पिल्ला हाथी की सूंड से फिसलकर गिरने लगा तो उसने अपने दाँतों तथा पंजों से हाथी की सूड को कसकर पकड़ लिया। पिल्ले से छुटकारा पाने के लिए हाथी पीछे की ओर भाग गया। गली तंग होने के कारण वह अपनी सूंड भी नहीं हिला पा रहा था। जब हाथी पीछे की ओर मुड़ गया, तब बादशाह अकबर की जान में जान आई। उन्होंने अपने माथे से पसीना पोंछा और राहत की साँस ली। तब बीरबल बोला, ‘महाराज इस परिस्थिति में एक छोटा पिल्ला हमारे हाथ आया और हमारा सुरक्षात्मक शस्त्र बनकर उसने हमारी सुरक्षा की। क्या आप कभी सोच सकते थे कि एक पिल्ला भी शस्त्र बन सकता है? अब आप समझ गए होंगे कि मैंने क्या कहा था।” बादशाह अकबर सब कुछ समझ गए और अपना जीवन बचाने के उपलक्ष्य में इनाम स्वरूप अपना मोतियों का हार बीरबल को दे दिया तथा शस्त्रों के विषय में महत्वपूर्ण सीख ली।

और कहानियों के लिए देखें : Akbar Birbal Stories in Hindi

Share
Published by
Hind Patrika

Recent Posts

दशहरा पर निबंध |Dussehra in Hindi | Essay On Dussehra in Hindi

दशहरा पर निबंध  Essay On Dussehra in Hindi Essay On Dussehra in Hindi : हमारे भारत…

5 months ago

दिवाली पर निबंध | Deepawali in Hindi | Hindi Essay On Diwali

दिवाली पर निबंध  Hindi Essay On Diwali Diwali Essay in Hindi : हमारा समाज तयोहारों…

5 months ago

Vbet10 रिव्यु गाइड, बोनस और डिटेल्स | दिसंबर 2021 | Hind Patrika

Vbet10 एक ऑनलाइन कैसीनो और बैटिंग वेबसाइट है। यह वेबसाइट हाल में ही भारत में…

6 months ago

Fiji (Mini India) & Its Facts in Hindi | फिजी (मिनी इंडिया) और उसके रोचक तथ्य

Fiji (Mini India)        Fiji (Mini India) in Hindi :  आज के इस…

7 months ago

रानी लक्ष्मीबाई की जीवनी | झांसी का युद्ध और मृत्यु

रानी लक्ष्मीबाई | Jhansi Ki Rani in Hindi Jhansi Ki Rani in Hindi: देश की…

3 years ago

पर्यावरण पर निबंध

पर्यावरण पर निबंध | Environment in Hindi Environment in Hindi: पर्यावरण शब्द संस्कृत के दो…

3 years ago