Slogans in Hindi | नारे – दृढ संकल्पों से भरे हुवे

Slogans in Hindi

Slogans in Hindi : Slogan एक तरह से एक अपने विचारों को अलग व सकारात्मक तरीके से लोगो के सामने रखने का ढंग हैं. इस ढंग को अपनाओ और लोगो में जागरूकता फैलाओ. ये चीज़ आपने भी आजमाई होगी की चाहे कितनी भी interesting चीज़ को boring ढंग से लिखो तो उसकी जो जान होती हैं वो खत्म हो जाती हैं. पढने का मन ही नहीं करता. और कभी कभी हम वो पढ़ लेते हैं जिन्हें सोच कर लगता हैं ये विषय तो बहुत छोटा व सामान्य हैं लेकिन जिस तरीके से इसे लिखा गया हैं, जिस तरीके से इसे पेश किया गया हैं. वो अद्भुत हैं.

यहाँ आपको नारों से सम्बंधित लेख भी मिलेगा व लेख के नीचे हमारे द्वारा नारे भी दिए गए हैं. अपनी रूचि अनुसार इन्हें पढ़िए और हमे इन पर अपना विचार बताइयेगा. यदि आपके पास अपना कोई नारा हैं तो हमे comment section में बताइए. हम आपका नारा लेख में जोड़ेंगे आपके नाम के साथ.

Also Check : कोई भी पैसा कमा सकता है, धन भेद भाव नहीं करता 

Slogans in Hindi

Slogans in Hindi

देखिये अक्सर जिन विषयों पर स्लोगन हम ढूँढते हैं उन विषयों में अधिकतर लोगो की कोई रूचि नहीं होती लेकिन फिर भी वो लोग आपका स्लोगन पढ़ते हैं. क्यों? क्युकी सब लिखने का खेल हैं. तो जितना आप अपनी बात को interesting तरीके से लोगो को बताएंगे उतने ही चाव से वो आपकी बात सुनेंगे.

आपने अक्सर देखा होगा जब कोई रैली या आंदोलन होता है तो लोग कुछ लाइनों या शब्दों को एक साथ जोश में और जोर जोर से बोलते हैं । इन शब्दों या लाइनों को नारा या स्लोगन कहते हैं । यह नारे या स्लोगन, आजकल चुनावी रैलियों में अधिकतर प्रयोग होते देखा जाता है । परंतु, यह नारे चुनावी रैलियों के लिए ही नहीं बने । आपने अक्सर स्कूल कॉलेज के कार्यक्रमों मे या स्टेडियम में अपने प्रिय खिलाड़ी आदि के उत्साह को बढ़ाने के लिए प्रयोग करते देखा होगा । क्रिकेट मैच के दौरान भी आपने देखा होगा कि पूरी भीड़ एक साथ किसी एक नारे या स्लोगन का प्रयोग करती हैं । यह नारे एकजुटता का प्रतीक होते हैं । क्या कभी आपने सोचा है यह नारे आए कहां से? इनका प्रयोग कब से होता आया है?  इनका आविष्कार कहां से हुआ है? इन्हें बनाता कौन है? आइए, इस लेख में हम नारे के विषय में पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे कि नारे का प्रयोग किस प्रकार और कहाँ होता है ।

नारा क्या है ?
नारा कुछ शब्दों का समूह है । यह अपने आप में एक प्रभावी वाक्य है । नारा किसी बात को साधारण और कम से कम शब्दों मे व्यक्त करके लोगों को उस से जोड़ने और आकर्षित करने का साधन है । नारे का आविष्कार कहां, कब और कैसे हुआ? यह तो किसी को नहीं पता, लेकिन आदिकाल से नारों का प्रयोग धार्मिक, राजनीतिक और सामाजिक एकता बढ़ाने के लिए किया जाता रहा है । नारों के जरिए किसी बात को बहुत ही कम शब्दों मे और बहुत प्रभावी तरीके से व्यक्त किया जाता है । जिससे लोग प्रभावित होते हैं और आसानी से सहायता करने के लिए जुड़ जाते हैं । नारे लगाकर, उस समय एक समूह का प्रतिनिधि करते हैं नारों का प्रयोग छोटे तथा बड़े कार्यों को करने के लिए भी किया जाता है । आदिकाल में नारों का प्रयोग ज्यादातर युद्धों में प्रयोग किया जाता था । किंतु, वर्तमान काल में इनका प्रयोग विभिन्न प्रयोजनों को पूर्ण करने के लिए भी किया जाता है ।

नारे एकता बढ़ाने का माध्यम:
नारे, एकता बढ़ाने का प्रमुख साधन है । नारों के माध्यम से हम किसी एक उद्देश्य को पूरा करने के लिए अपने को प्रतिनिधि के रूप में प्रदर्शित करते हैं । कोई चुनावी रैली हो या कोई सामाजिक रैली हो कोई सुधार कार्यक्रम है या कोई राष्ट्रीय या अन्य कोई प्रदर्शन रैली हो । सभी में नारों का प्रयोग एकजुटता दिखाने के लिए ही किया जाता है । नारे से जागरूकता भी बढ़ती है नारों के माध्यम से अपने उद्देश्य को हम आसानी से व्यक्त करते हैं । लोगों को उस कार्यक्रम से जोड़ कर लोगों को जागरुक करते हैं । जिससे उस कार्य को करने में रुचि रखने वाले लोग सम्मिलित होते हैं । कार्य को पूरा करने में सभी अपना उचित योगदान देकर एक एकजुट होना प्रदर्शित करते हैं ।

भारत माता की जय, वंदे मातरम, और जय हिंद, यह सब ऐसे नारे रहे हैं, जिन्होंने आजादी की लड़ाई में भारत के बहुत से बिखरे हुए लोगों को इकट्ठा किया है । एकता बढ़ायी और भारत को आजाद कराने के लिए स्वतंत्रता संग्राम में हर प्रकार से सहयोग किया है । हिंदी हिंदू हिंदुस्तान, सारे जहां से अच्छा हिंदुस्ता हमारा ,इन नारों ने तो भारत में निवास कर रहे विभिन्न जातियों, विभिन्न धर्मों, विभिन्न प्रदेश के रहने वाले लोगों को एक झंडे के नीचे लाकर खड़ा कर दिया । भारत की एकता बढ़ाने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । यह कहने को तो चंद शब्द हैं, किंतु इन चंद शब्दों ने लोगों के दिलों में धड़क रही, देशभक्ति की भावना को जगाया और एक झंडे के नीचे एकत्र करने मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ।

नारे जागरुकता बढ़ाने का माध्यम:

नारों के माध्यम से जागरूकता बहुत ही आसानी से और कम समय में बढ़ाई जा सकती है । अभी हाल ही में, आपने स्वच्छता भारत अभियान के तहत प्रयोग किए गए नारों की शक्ति देखी होगी । प्रत्येक व्यक्ति जो देश के प्रति जागरुक है और अपने देश से प्रेम करता है । वह देश के स्वच्छता अभियान से इन्ही नारों के माध्यम से जुड़ता चला गया और स्वच्छता के उद्देश्य को पूरा करने में अपना योगदान दिया । स्वच्छता अभियान के तहत प्रयोग किए गये प्रमुख नारे निम्न है-

  • भगवान स्वच्छता से प्रेम करते हैं
  • स्वच्छता अपनाएं बीमारियों को दूर भगाएं
  • हम सब का एक ही नारा साफ सुथरा हो देश हमारा
  • क्लीन सिटी ग्रीन सिटी यही है मेरा ग्रीन सिटी
  • सभी रोगों की एक सफाई एक दवाई घर में रखो साफ सफाई
  • कदम से कदम मिलाओ स्वच्छता बनाओ

पोलियो से लड़ने के लिए, अमिताभ बच्चन द्वारा प्रचारित “दो बूंद जिंदगी की” ने पूरे देश के लोगों को अपने बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के लिए प्रोत्साहित किया है । पोलियो जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ने के लिए एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है ।

भाजपा सरकार द्वारा चलाया गया “शाइनिंग इंडिया” और “मेक इन इंडिया” कार्यक्रम, इन्ही नारों की वजह से सभी के संज्ञान में आया है । सभी भारत में निर्मित वस्तुओं द्वारा भारत को आर्थिक व्यवस्था मजबूत बनाने के लिए जागरुक हुए हैं । इस प्रकार, नारों को माद्धयम बना कर जागरूकता बढ़ाना बहुत हो जाता है ।

नारे देशभक्ति की भावना जगाने का माध्यम

ऐसे बहुत सारे नारे हुए हैं, जो स्वतंत्रता संग्राम के दौरान है या फिर उसके आस-पास प्रयोग किए गए हैं । आजादी के बाद भी ऐसे बहुत सारे नारे प्रयोग किए गए हैं । जिनसे देशभक्ति की भावना जागृत होती है और हम सब देश के प्रति जागरुक होकर इमानदारी से कार्य करते हैं । ऐसे नारे उन लोगों के दिलों में भी देशभक्ति की भावना पैदा कर देते हैं । जो बहुत ही स्वार्थी और लापरवाह होते हैं । जिन्हे किसी चीज की कदर नहीं होती और देश से प्यार नहीं करते हैं । ऐसे नारे की वजह से ही हमारे देश में विशाल स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी है और देश को आजाद करने में बहुत बड़ा योगदान दिया है । “वंदे मातरम” और “इंकलाब जिंदाबाद” जैसे नारों ने आजादी की लड़ाई में इस देश के युवा, बच्चों और बुजुर्गों के अंदर भी वह जान डाल दी थी कि वह अंग्रेजों से लोहा लेने में भी नहीं कतराते थे । देशभक्ति की भावना इस कदर खून में समाहित कर दी थी कि देश का कमजोर से कमजोर आदमी भी अंग्रेजों की बड़ी सरकार पर भारी पड़ रहा था ।

सरफरोशी की तमन्ना, अब हमारे दिल में है.

देखना है जोर कितना, बाजुए कातिल में है..

भगत सिंह द्वारा दिया गया यह नारा, आजादी में बहुत ही योगदान देकर, महत्वपूर्ण योगदान भूमिका निभाई है । देश का हर नागरिक अपनी जान देकर भी आजादी हासिल करने में आजादी की लड़ाई में साथ दिया है । बहुत सारे लोगों ने अपनी जाने भी गँवाई हैं । इस प्रकार यह नारे देश भक्ति की भावना को बढ़ाने  मे महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं

Slogans in Hindi : यहाँ हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ बेहतरीन slogans का बेहतरीन collection. अगर आप अपने सुझाव व अपने slogans हमारे साथ share करना कहते हैं तो comment section में आपका बहत बहुत स्वागत हैं.
धन्यवाद!

Also Check : Personality Development in Hindi | व्यक्तित्व कैसे निखारे

 

Slogans in Hindi

Slogans in Hindi
यातायात नियमों का करें पालन, कभी ना करें उनका उल्लंघन ।

Yatayat niyamon ka kare paalan, kabhi na kare unka ullanghan..
वाहनों को कम उपयोग में लाइए, थोड़ी दूरी के लिए साइकिल से या पैदल जाइये ।

यातायात सुरक्षा है अति आवश्यक, यही बने आपकी रक्षक ।

Yatayat suraksha hai ati aavashyak, yahi bane aapki rakshak.
ऊर्जा के अक्षय स्रोतों को उपयोग में लाएँ, प्राकृति की ऊर्जा से बिजली बनायें ।

Also Check : Easy Steps to Wake up early at 4:00 am | सुबह 4 बजे कैसे उठे?

जब भी आप चलाएँ कोई वाहन, ध्यान रखें करें नियमों का पालन ।

Jab bhi aap chalaye koi vaahan, dhyaan rakhe kare niyamo ka paalan.

Slogans in Hindi
ऐसी वस्तु उपयोग में लायें, जिससे प्रकृति क्षति न पाए ।

मोबाइल पर है यदि बात करना, वाहन को होगा साइड में रोकना ।

Mobile par hai yadi baat karna, vaahan ko hoga side me rokna.
जीवन शैली में परिवर्तन लायें, पर्यावरण के अनुकूल बनायें ।

सिर है सबसे नाज़ुक, हेलमेट लगाकर बने जागरूक ।

Sir hai sabse naajuk, helmet laga kar bane jaagaruk.

पर्यावण यदि होगा दूषित, स्वस्थ्य का होगा अनहित ।
हेलमेट का करें उपयोग, नियम पालन में सहयोग ।

वृक्षारोपण में सहयोग करें, प्रकृति को स्वस्थ रखें ।

Helmet ka kare upayog, niyam paalan me sahayog.
प्राकृतिक वस्तुओं का उपयोग, यही है गो ग्रीन में सहयोग ।

Also Check : Thoughts in Hindi | हिंदी में बेहतरीन विचार

प्रदूषण पर प्रतिबन्ध लगाएँ, पर्यावरण को हम सब बचाएँ ।

पर्यावरण को बचाने का कदम उठाइये, जीवन को पर्यावरण के अनुकूल बनाइये ।
स्वस्थ्य के लिए हानिकारक है प्रदूषण, इसका परिणाम होता है भीषण ।

बंद हुए ५००-१००० के नोट, सामने आई काले धन की खोट ।

प्रदूषण के हैं कई कारण, धुआँ कचरा इत्यादि उदाहरण ।

भ्रष्टाचार रोकने का निकला उपाय, बाहर निकलेगी अघोषित आय ।

देश को प्रदूषण मुक्त बनाएँ, मन में ये संकल्प बनायें ।

Slogans in Hindi

Slogans in Hindi

प्रधानमन्त्री जी का ऐतिहासिक फैसला, कला धन अब बाहर निकला ।

बढ़ते हुए यह धुएँ से है सब परेशान, शुद्ध वायु दुर्लभ खतरे में है मनुष्य की जान ।

काले धन का होगा नाश, भ्रष्टाचार का पर्दाफाश ।

अपने स्वार्थ के लिए हम क्यों करते हैं प्रदूषण, क्या मतलब है जिससे पड़े खतरे में जन-जीवन ।

आतंकवादी गतिविधियों पर लगे रोक, सरकार ने बंद किये ५००-१००० के नोट ।

कूड़ा और प्लास्टिक जो लोग जलाये, प्रदूषण के कारक बन जाए ।
५०० और १००० के नोट पर प्रतिबन्ध, सीधा है भ्रष्टाचार रोकने से सम्बन्ध ।

श्वास लेने में तकलीफ आये, आरोग्य को हानि पहुँचाये ।

प्रारम्भ में होगी जन-जन को असुविधा, देश हित के सामने न हो व्यक्तिगत सुविधा ।

Slogans in Hindi

Slogans in Hindi

Also Check : Gk Question in Hindi | समान्य ज्ञान के महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर

अब भी समझें करें सार्वजनिक वाहनों का उपयोग, प्रदूषण को रोकने में दें अपना सहयोग ।

आओ मिलकर हम सब इस महायज्ञ में सम्मिलित हों, राष्ट्र हित के इस निर्णय में सभी एकजुट होकर सहयोग दो ।

फैलेगा यदि इसी तरह से सभी ओर प्रदूषण, संकट में पड़ जायेगा सब प्राणियों का जीवन ।
स्वच्छ वायु है यदि पाना, प्रदुषण पर होगा रोक लगाना ।

सुखी जीवन के रस्ते , सामाजिक सरोकार के वास्ते ||
शारीरिक ऊर्जा में जो लाये निखार, स्वच्छ वायु ही एक आधार ।

सुखी जीवन जीने का हो इरादा , सरल जीवन जीने का करना होगा वादा ||

प्रकृति को है हमें बचाना, तो होगा हमें वन को बढ़ाना ।

सुखी सरल निरोगी जीवन , निस्वार्थ सामाजिक योगदान ||

Slogans in Hindi

Also Check : Hindi Poems On Nature | प्रकृति की कविताओं का संग्रह

Slogans in Hindi
धरती को हरा-भरा बनाओ, शुद्ध वायु से स्वस्थता पाओ ।

सामाजिक सहयोगिता में योगदान दीजिये , दूसरों के पथ-प्रदर्शक बनिए ||
प्रदुषण को मिलकर हटाओ, घर-घर मिलकर पेड़ लगाओ ।
आप है ईश्वर की अमूल्य कृति , सामाजिक सरोकार में कराइये उपस्थिति

जागृत यदि हम नहीं होंगे अब, नहीं पाएँगे शुद्ध वायु कल ।

समाज के प्रति आपकी है जिम्मेदारी , सामाजिक कर्मो रखे पूर्ण ईमानदारी ||

कल के लिए हमें आज को है बचाना, प्रकृति को है हमें हरा भरा बनना ।

Slogans in Hindi
प्रदुषण को हटाकर हमें शुद्ध वायु है पाना, यह संकल्प सभी को होगा अपनाना ।

समाज का आप हो हिस्सा , सामाजिक कार्य करने वाला है फरिश्ता |

स्वच्छ और निर्मल हवा अपनाना, रोगों से जन जीवन को है बचाना ।

जीवन बनाना हो सुखी , सामाजिक कार्य करे हँसी ख़ुशी

मनुष्य का स्वार्थ, करे वनों का नाश , स्वच्छ वायु से वंचित है, प्रत्येक प्राणी आज

ऐसा धन है बेकार , जो कभी न करे सामाजिक सरोकार

 

Also Check : Hindi Rhymes | हिंदी कविताओं की बेहतरीन तुकबंदी
विकास का पुनः होगा अर्थ निकालना, मात्र तकनीक से ही नहीं अपितु प्रकृति से होगा लाना ।

Slogans in Hindi
ईशवर को ऐसे लोग लगते है प्रिय ,जो सामाजिक कार्य करने को रहते हैं तत्पर

सामाजिक कार्य के लिए यत्र संभव मदद कीजिये, मानव सेवा का हिस्सा बनाइये

Slogans in Hindi

Also Check : Indian Geography in Hindi | भारत की भुगौलिक संरचना की जानकारियाँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.