Smaj ke Samne Anjali Ki Haar | समाज के सामने अंजलि की हार

Smaj ke Samne Anjali Ki Haar | समाज के सामने अंजलि की हार

Smaj ke Samne Anjali Ki Haar | समाज के सामने अंजलि की हार : बाहर जोरो से बारिश चल रही थी, लेकिन तूफ़ान उसके दिल में भी उठ रहा था. अंजलि एक पेंटर थी उसने हाथ में एक पेंसिल ली और एक ख़ास कार्ड टेबल से उठाया।

वह इस उलझन में थी की क्या किया जाए, लेकिन वो अपनी दिल की बात बाहर लाना चाहती थी।

Also Check : Love Kahani in Hindi | प्यार का सागर हैं ये प्रेम कहानी

Smaj ke Samne Anjali Ki Haar | समाज के सामने अंजलि की हार

“मैं तुमसे प्यार करती हूँ।” वो सिर्फ यही लिख पायी सिर्फ कुछ यही चंद शब्द।

उस की पेंसिल ने अब आगे लिखा “चलो! यहाँ से कही भाग चलते हैं।”

Smaj ke Samne Anjali Ki Haar | समाज के सामने अंजलि की हार

लेकिन इस बीच, उसने अपने पिता की तस्वीर को देखा। तस्वीर को देखते ही उसने इरेज़र हाथ में उठाया और वो सब मिटा दिया जो सच में उसके दिल और दिमाग में घूम रहा था. हाँ उसने अपने मैरिज कार्ड से अपनी लिखी हुई बातो के साथ साथ अपनी उन भावनाओं को भी दबा दिया था जो उसे रोहित की याद में खायी जा रही थी. बस अब उसे केवल अपना ही नाम नज़र आ रहा था किसी दुसरे नाम के सामने – एक ऐसा नाम जो उसके लिए अजनबी था सिर्फ और सिर्फ अजनबी

उस रात, कार्ड पर गहरे दबाव के साथ दुःख की एक अनकही कहानी कही खो गई थी। और एक बार और, घमंड के इस समाज ने प्यार पर अपनी जीत हासिल की।

Also Check : Birthday Quotes for Husband in Hindi

Smaj ke Samne Anjali Ki Haar | समाज के सामने अंजलि की हार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.