सप्तऋषियों की शरण में डाकू रत्नाकर

सप्तऋषियों की शरण में डाकू रत्नाकर

सप्तऋषियों की शरण में डाकू रत्नाकर सप्तऋषियों की शरण में डाकू रत्नाकर : डाकू रत्नाकर वापस सप्तऋषियों के पास आया और अपने शस्त्र फेंककर उनके चरणों में गिर पड़ा। आंखों […]

Continue reading »
डाकू की साधना और वाल्मीकि नाम पड़ना

डाकू की साधना और वाल्मीकि नाम पड़ना

डाकू की साधना और वाल्मीकि नाम पड़ना डाकू की साधना और वाल्मीकि नाम पड़ना : डाकू रत्नाकर ने सप्तऋषियों के बताए अनुसार माता सरस्वती का आह्वान किया और पद्मासन लगाकर […]

Continue reading »
देवर्षि नारद द्वारा वाल्मीकि ऋषि को उपेदश देना

देवर्षि नारद द्वारा वाल्मीकि ऋषि को उपेदश देना

देवर्षि नारद द्वारा वाल्मीकि ऋषि को उपेदश देना देवर्षि नारद द्वारा वाल्मीकि ऋषि को उपेदश देना : वाल्मीकि ऋषि ने स्नान-ध्यान किया और देवर्षि नारद ने उन्हें केसरिया अंग वस्त्र […]

Continue reading »
महाकाव्य 'रामायण

महाकाव्य ‘रामायण’

महाकाव्य ‘रामायण’ महाकाव्य ‘रामायण’ : श्रीनारद जी ने बीज रूप में वाल्मीकि को श्रीराम का चरित्र सुनाया और आशीर्वाद देकर चले गए। वाल्मीकि मुनि ने श्रीरामचरित्र का मंथन करना प्रारंभ […]

Continue reading »
देवताओं की प्रार्थना

देवताओं की प्रार्थना

देवताओं की प्रार्थना देवताओं की प्रार्थना : अयोध्यापति महाराज दशरथ की इस घोषणा से कि श्रीराम राजा बनेंगे, समूची अयोध्या प्रसन्नता के अतिरेक में बहने लगी। अगर बेचैनी थी, तो […]

Continue reading »
1 2 3 40