Home शैक्षिक Teachers Day Speech in Hindi | शिक्षक दिवस के उपलक्ष में सर्वश्रष्ठ भाषण

Teachers Day Speech in Hindi | शिक्षक दिवस के उपलक्ष में सर्वश्रष्ठ भाषण

by Hind Patrika

Teachers Day Speech in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi : हिमालय से समुद्र परयन्त्र सहस्रलोचन तक, भारत की विशाल भूमि में ज्ञान का दीपक जलाने वाली अनेको विभूतियों में जन्म लिया, भारत हमेशा से महान शिक्षको का केंद्र रहा हैं. शिक्षको ने जीवन के अन्त्तम ज्ञान का हम सभी के लिए मार्ग दर्शन किया हैं. भारत एक ऐसा देश रहा हैं जिसने गुरु को भगवान से भी बड़ा बताया कहते हैं

Also Check : Swami Vivekananda Inspirational Quote

Teachers Day Speech in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi :  “गुरु गोबिंद दाऊ खड़े, काके लागु पान, बलिहारी गुरु आपने गोविन्द दियो बताए” विश्व में भारत ही ऐसा देश हैं जिसमे गुरु को गोविन्द से भी बड़ा दर्ज़ा दिया हैं. हमारे यहाँ संस्कृत में कहते हैं “गुरुर ब्रह्मा, गुरुर विष्णु, गुरुर देवो महेश्वर, गुरुर साक्षात् परम ब्रह्मा तस्मे श्री गुरुवे: नम:” श्रीराम ने स्वयं ही गुरु के रक्षण में दैविक, भौतिक, आध्यत्मिक विद्याओं का प्रकाश प्राप्त कर के गुरु को भगवान से भी बड़ा बताया हैं. इस धरती पर जब भी किसी ने महानतम शिखर को छुआ हैं तो उसके पीछे किसी ना किसी गुरु का महत्व रहा हैं, महिमा रही हैं.

Also Check : Educational Quotes in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi : एक समय की बात हैं अरस्तु और सिकंदर एक नदी के किनारे उसे पार करने के लिए खड़े थे तो अरस्तु ने कहा पहले मैं नदी पार कर के दुसरे किनारे पहुंचूंगा तब फिर तुम पार करना यदि कोई खतरा होता हैं तो हमारा सम्राट बच जाएगा. इस पर सिकंदर ने कहा नदी तो पहले मैं पार करूँगा गुरु देव, मुझे कुछ भी हो जाता हैं तो महान अरस्तु हमसे भी बेहतर सिकंदर बनाने की शक्ति रखता हैं किन्तु गुरु की अनुपस्थिति में राष्ट्र बिखर जाएगा उसकी आत्मा चली जाएगी.

Also Check : Best Inspirational Quotations

Teachers Day Speech in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi : जब सिकंदर विश्व विजय के लिए निकला तो उसके गुरु अरस्तु ने कहा था की भारत में अनेक शिक्षक हैं उनमे एक महान शिक्षक हैं जिसे लोग काला ब्रह्मण भी कहते हैं वो विष्णु गुप्त चाणक्य के नाम से प्रकाश पुन्ज्य बन कर भारत की धरा को आलोकित कर रहा हैं. सिकंदर तुम्हे उससे बचना होगा. उसकी गोद में विनाश और निर्माण खेला करते है.

Also Check : B. R. Ambedkar Essay in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi : औरंगजेब ने जब अपने पिता शाहजहाँ को कैद किया तो पिता से कहा की तीन चीज़े जो तुम्हारी जरूरते हो वो मांग लो तो शाहजहाँ ने कहा मुझे खाने के लिए चने, पीने के लिए पानी और काम करने के लिए शिक्षण कार्य चाहिए. औरंगजेब मुस्कुराया और कहा दो चीज़े मैं तुम्हे देता हूँ लेकिन बच्चो को शिक्षा देने का कार्य यदि मैंने तुम्हे दिया तो आने वाले दिनों में औरंगजेब कैद में होगा और शाहजहाँ अपने सिंघासन पर.

Also Check : Slogan in Hindi on Corruption

Teachers Day Speech in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi : इस पृथ्वी ग्रह पर हर व्यक्ति असीम संभावनाओं का स्वामी हैं, संभावनाओ का द्वार खोलना शिक्षक का ही उत्तरदायित्व होता हैं. कहते हैं शिक्षक तब गौरवशाली होता हैं जब उसके आलोक में, जब उसके प्रकाश में राष्ट्र का गौरव बढ़ता हैं, राष्ट्र तब अपने महानताम शिखर को छूता हैं जब वो अपने जीवन मूल्यों, राष्ट्र संस्कृति, उत्कृष्ट परम्पराओं को जीवन देता हैं, कोई भी राष्ट्र तब सफल होता हैं जब उसका शिक्षक अपने उत्तरदायित्व का अपने कर्तव्यो का निर्वाहन करता हैं, शिक्षक की सफलता तब कही जाती हैं

Also Check : 14 Books You Should Read Before You Die in Hindi

 

Teachers Day Speech in Hindi : जब वह अपने विद्यार्तियो में चरित्र निर्माण, राष्ट्रीयता, करुणा, संवेदनशीलता , एक दुसरे के साथ बांटना, इन सबका निर्माण करने में सफल होता हैं तब सही मायने में शिक्षक की सफलता हैं, शिक्षक जब स्वार्थी सत्ताओ के हाथो बिक जाता हैं और तब राष्ट्र अपने विनाश के किनारे पर खड़े हो कर सिर्फ और सिर्फ एक धक्के का इंतज़ार करता हैं. यह एक शिक्षक जब द्रोणाचार्य अंधी सत्ता के द्वारा पदालित हुआ, स्वार्थो के साथ समझौता किया तो जन्म लेता हैं प्रयलंकारी विनाश, इतिहास में कुरुक्षेत्र भीषण युद्ध के नाम से जाना जाता हैं. जिसकी अहम भूमिका में शिक्षक ही था, जिस युद्ध की विभिषका से आज भी मानवता काँप उठती हैं.

Also Check : Environment Speech in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi

Teachers Day Speech in Hindi : राष्ट्र के विकास के पिरामिड की नीव शिक्षक हैं, पिरामिड का आधार मजबूत होना राष्ट्र की मजबूती हैं. आखिर आज आधनिक समाज को क्या हो गया हैं. एक बुद्धिमान समर्थवान, कुशल, अपनी विधाओं में पारंगत विद्यार्थी अध्यापक बनना पसंद नहीं करता जिस कारण डिग्री से अलंकृत शिक्षक को मिल जाते हैं लेकिन वास्तविक ज्ञान को आलोकित करने वालो का अभाव हैं वो बना रहता हैं. आज समाज को व्यवस्था को ये सोचना होगा की शिक्षको में ये भाव कैसे जागे. व्यक्ति शिक्षको के महत्व को कैसे समझे, वो ये कैसे जाने की गुरु ही वो आत्म तत्व हैं जो महान राष्ट्रों का निर्माण करता हैं. आज की सबसे बड़ी आवश्यकता इस भाव को पैदा करना हैं.

Also Check : Republic Day Speech in Hindi

 

Teachers Day Speech in Hindi : चीन में एक कहावत कही जाती हैं की यदि एक वर्ष की व्यवस्था करनी हैं तो अनाज पैदा करो, 10 वर्षो के लिए यदि सोचना हैं तो फलो के बीज बोओ और जो पीढियों की सोचते हैं वो शिक्षक बनाते हैं. आज आवश्यकता हैं पुन: शिक्षा एवं शिक्षक को प्राचीन गुरुकुलमय रस्ते पर चलने की. जहाँ से उदित होता हैं सत्य, शिव, सुंदर.

Also Check : Blood Donation Slogans in Hindi

 

Teachers Day Speech in Hindi : 5 सितंबर को महान शिक्षविद्द, दार्शनिक, महान वक्ता एवं विचारक डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन का शिक्षा के क्षेत्र में समाज सेवा में अमूल्य योगदान रहा हैं आपका कहना था यदि सही तरीके से शिक्षा दी जाए तो समाज स्वयं एक बेहतर राष्ट्र का निर्माता बन जाएगा. ऐसी महान विभूति का जन्मदिन शिक्षक दिवस के रूप में मनाना हम सभी के लिए गौरव की बात हैं. जब सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी महामहिम राष्ट्रपति बने तो प्लूटो द्वारा कहा गया वक्तव्य राजा को दार्शनिक होना चाहिए, दार्शनिक को राजा होना चाहिए अपने आप में सार्थक हो उठा.

Also Check : Posters of Child Labour Posters Related to Child Labour

 

Teachers Day Speech in Hindi : महामहिम सर्वपल्ली राधाकृष्णन के विचारों को ध्यान में रखते हो शिक्षक दिवस की पुनीत अवसर पर हम सभी ये प्रण करे को शिक्षा की ज्योति को अपने जीवन में आत्मसात करते हुवे उस ज्ञान के दीपक को प्रत्येक ह्रदय में आलोकित करना हैं. इन्ही शब्दों के साथ हम समस्त शिक्षको का नमन करते हैं, अभिनन्दन करते हैं. धन्यवाद!

Also Check : Essay on Child Labour in Hindi

You may also like

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.