एकता मे शक्ति है.

एकता मे शक्ति है.

Unity is Strength : Inspirational Stories in Hindi

Inspirational stories in Hindi
Inspirational stories in Hindi

Inspirational Stories in Hindi : एक समय की बात है. एक बुड्ढ़ा आदमी अपने तीन बेटों के साथ एक गाँव में रहता था. उसके तीनो बेटें बहुत मेहनती थे. पर तीनो एक दूसरे की बातों से कभी सहमत नहीं होते थे और इस वजह से वह हमेशा किसी ना किसी बात पे लड़ते झगड़ते रहते थे. बुड्ढे आदमी ने उन्हे एक करनी की कई बार कोशिश करी पर हर बार वह नाकाम रहा. गाँव वाले भी उनकी मेहनत और लगन देखकर विस्मित होते थे पर उनके झगड़ों के कारण उनका मज़ाक भी उड़ाते थे.

 

कई महीने गुजर गये और इस दौरान बुड्ढ़ा आदमी बीमार पड गया. उसने अपने लड़कों से एक होने के लिए कहा पर किसी ने उसकी एक नहीं मानी. इसलिए उसने अपने लड़कों को एक अनोखे तरीके से उन्हे समझाने की सोची जिससे की उनके बीच की दूरी ख़त्म हो और वे मिलजुल कर रहने लगे.

 

बुड्ढे आदमी ने अपने तीनो लड़को को बुलाया. उसने कहा, “मैं तुम्हे एक लकड़ियों का bundle दूँगा, तुम्हे उसे अलग अलग करना है और एक bundle को लेकर उसे दो हिस्सों में तोड़ना है. जो सबसे पहले सारी लकड़ी को तोड़ेगा उसे इनाम मिलेगा.”

 

सारे लड़के यह बात मान गये.

 

बुड्ढे आदमी ने 10 लकड़ियों का bundle दिया और उसे तोड़ने को कहा. सबने लकड़ियों को कुछ ही minutes में तोड़ दिया और फिर वह सब दुबारा झगड़ने लग गये की किसने पहले लकड़ियों को तोड़ा है.

 

बुड्ढे आदमी ने कहा, “अभी खेल ख़त्म नही हुआ है. में तुम्हे एक और लकड़ियों का bundle दूँगा. इस बार तुम्हे लकड़ी को एक एक करके नहीं तोड़ना है बल्कि पूरा लकड़ियों का bundle ही एक साथ तोड़ना है.

 

तीनों सहमत हो गये और लकड़ी का bundle तोड़ना शुरू कर दिया. दुर्भाग्यवश उनमे से कोई भी लकड़ी के bundle को नहीं तोड़ पाया. उन्होने बहुत ज़्यादा कोशिश की पर अपने काम को पूरा करने में नाकाम रहे.

 

सारे बेटों ने अपने पिता को अपनी नाकामी के बारे में बताया.

 

इसपर उस बुड्ढे आदमी ने जवाब दिया, “मेरे प्यारे बेटों, देखो, तुम एक लकड़ी को आराम से दो टुकड़ों में बाँट पाए पर उसके उलट तुम लकड़ियों के bundle को एक साथ नही तोड़ पाए, जबकि लकड़ियाँ तो उसमे वहीं थी जो तुमने तोड़ी थी. अगर तुम सब मिल जुलकर और एक होकर रहोगे तो तुम्हे कोई नुकसान नहीं पहुँचा सकता. अगर तुम आपस में लड़ते झगड़ते रहोगे तो कोई भी तुम्हे आसानी से हरा सकता है. में तुम सब से एक होने का निवेदन करता हू.”

 

तीनों बेटों ने एकता की ताक़त को समझ लिया और अपने पिता से ये वादा किया की चाहे कितनी भी मुश्किले आयें, वह सब एक होकर और मिलजुलकर रहेंगे.

 

Moral of the Story : एकता मे शक्ति है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.